Loading...

शिक्षा विभाग एकीकृत शालाओं की व्यावहारिक परेशानियों को दूर करे | MP NEWS

भोपाल। मप्र में चालू सत्र में एक परिसर अंतर्गत आने वाली शालाओं (schools) का एकीकरण किया गया है। मप्र तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ (M.P. Third Class Government Employees Association) के प्रांतीय उपाध्यक्ष कन्हैयालाल लक्षकार (Kanhaiyalal Lakshar) ने बताया है कि इस व्यवस्था के लागू होने के साथ ही व्यवहारिक परेशानियां परिलक्षित हो रही है। 

विभागीय आदेशानुसार कक्षा पहली से बारहवीं तक की शालाओं का एकीकरण किया गया है जो एक ही परिसर में थी। सभी शालाओं के डाइस कोड स्कालर पंजी (Dice Code Scalar Registe) अभी भी अलग-अलग होने से व्यवहारिक परेशानी यह आ रही है कि पहली में दर्ज बच्चें का विद्यालय, स्कालर क्या हो ? 

पांचवी, आठवी उत्तीर्ण बच्चें का स्कालर बदलेगा या नहीं यदि बच्चा एकीकृत विद्यालय (Integrated schools) में अध्ययन है तो? नवीन सत्र 01अप्रैल 2019 से चालू हो रहा है। इसलिए उक्त बिंदु शिक्षा विभाग (education Department) प्रदेश स्तर से स्वयं संज्ञान लेकर स्पष्ट करे ताकि व्यवहारिक परेशानियों से शिक्षकों को निजात मिल सके।