Loading...

भाजपा घबराई, मामा, भाई, ताई सबके टिकट अटके | MP NEWS

भोपाल। भोपाल लोकसभा सीट (Lok Sabha seat) से दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) का नाम घोषित हो जाने के बाद मध्यप्रदेश में BJP घबराई हुई है। भोपाल, इंदौर, रतलाम, सागर, गुना-शिवपुरी, विदिशा और राजगढ़ लोकसभा सीटों पर प्रत्याशियों के नामो का चयन नहीं हो पा रहा है। दावेदारियां चल रहीं हैं परंतु जीत की गारंटी देने वाले सामने नहीं आ रहे हैं। अब फैसला अमित शाह (Amit Shah) के ऊपर छोड़ दिया गया है। 

सोमवार को दिल्ली में प्रदेश भाजपा के नेताओं शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan), गोपाल भार्गव (Gopal Bhargava), संगठन महामंत्री सुहास भगत, विनय सहस्त्रबुद्धे की पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के करीबी व राष्ट्रीय महासचिव अनिल जैन के साथ लंबी चर्चा हुई। जैन को भोपाल, इंदौर, रतलाम, सागर, गुना-शिवपुरी, विदिशा और राजगढ़ लोकसभा सीटों पर प्रदेश नेतृत्व द्वारा तय किए गए नामों की सूची सौंपी गई। इसके बाद जैन ने अमित शाह को इन सीटों पर प्रदेश संगठन द्वारा सुझाए गए नामों की विस्तृत जानकारी दी। 

कौन कौन दावेदार

इंदौर से सुमित्रा महाजन (Sumitra Mahajan) ने अब तक दावेदारी नहीं छोड़ी है। कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) ने इंदौर से टिकट की आस में प्रयास तेज कर दिए हैं। विदिशा से शिवराज सिंह साधना सफल होती नजर नहीं आ रही है इसलिए भोपाल से शिवराज सिंह 'मौके पर चौका' मारने की कोशिश कर रहे हैं। हालांकि आलोक शर्मा और वीडी शर्मा भी पैनल में दर्ज हैं। विदिशा से पूर्व वित्त मंत्री राघव जी ने अपनी बेटी ज्योति की दावेदारी दिल्ली में पेश की है। सुखप्रीत कौर ने भी केंद्रीय नेताओं से मुलाकात कर दावेदारी रखी है। बालाघाट के लिए पूर्व मंत्री ढाल सिंह बिसेन और पूर्व सांसद नीता पटेरिया ने दिल्ली में डेरा जमा लिया है। एक दिन पहले तक ग्वालियर सीट से पूर्व मंत्री माया सिंह के साथ ही महापौर विवेक शेजवलकर का नाम चर्चा में था, लेकिन कांग्रेस से प्रियदर्शनी राजे का प्रस्ताव पास होने के बाद माया सिंह ने अपना नाम वापस ले लिया। गुना-शिवपुरी में अब तक कोई प्रभावी नाम सामने नहीं आया है। वहां के कार्यकर्ता शिवराज सिंह की मांग कर रहे हैं।