इलेक्शन 2019 फतह करने के लिए कांग्रेस ने बीजेपी के मुकाबले अपने प्रत्याशी पहले तय कर लिए हैं। पार्टी ने बारह सीटों पर सिंगल नाम तय किए हैं। बाकी सत्रह सीटों पर पार्टी अगले सप्ताह नाम फायनल करेगी।

विधानसभा चुनाव में कांग्रेस तत्कालीन बीजेपी सरकार के खिलाफ एंटी इंकंमबेंसी कैश कराने में कामयाब हुई थी. अब वो लोकसभा चुनाव में बीजेपी सांसदों के खिलाफ जनता की नाराजगी को भुनाने की तैयारी से मैदान में उतर रही है। पार्टी, जनता में पकड़ रखने वाले चेहरों के साथ युवा चेहरों को उतार रही है। गुरुवार को दिल्ली में हुई कांग्रेस स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक में बारह लोकसभा सीटों पर सिंगल नाम तय कर लिए गए हैं। बाकी सत्रह सीटों पर पार्टी ने दो से तीन नाम का पैनल तैयार किया है। इस पर आखिऱी फैसला सेंट्रल इलेक्शन कमेटी की बैठक में होगा।

ये हैं वो 12 नाम जो तय किए गए 
गुना-शिवपुरी से ज्योतिरादित्य सिंधिया
झाबुआ-रतलाम से कांतिलाल भूरिया
छिंदवाड़ा से नकुलनाथ
मंदसौर से मीनाक्षी नटराजन
मुरैना से रामनिवास रावत
सतना से अजय सिंह
सीधी से राजेंद्र सिंह
भिंड से महेंद्र बौद्ध
खजुराहो से रामकृष्ण कुसमरिया
खंडवा से अरुण यादव
धार से गजेंद्र सिंह
बैतूल से अजय शाह

नाम भले ही तय कर लिए गए हों, लेकिन पार्टी एन मौके पर भी प्रत्याशी बदल सकती है। पार्टी सूत्रों के मुताबिक यदि कोई बड़ा नाम किसी लोकसभा सीट पर आता है तो उसे बदला जाएगा। लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज कराने के लिए पार्टी इस बार प्रत्याशी चयन पर खासा फोकस कर रही है और यही कारण है कि विधानसभा चुनाव में हारने वाले चेहरों के लोकसभा क्षेत्रों को बदला गया है। साथ ही पार्टी इस बार नेता पुत्रों पर भी दांव लगाने के मूड में है..हालांकि पार्टी साफ कर चुकी है इस बार वो किसी विधायक को टिकट नहीं देगी।