Advertisement

4.60 लाख पेंशनर्स को DA के लिए 4 कर्मचारी संगठनों ने आवाज उठाई | MP NEWS



भोपाल। प्रदेश के 4 लाख 60 हजार पेंशनर्स को केन्द्र की भांति मंहगाई भत्ता न मिलने से मप्र के वरिष्ठ नागरिकों को आर्थिक कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है। इस सबंध में आज म.प्र. कर्मचारी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष वीरेन्द्र खोंगल, म.प्र. संविदा कर्मचारी अधिकारी महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष रमेश राठौर, लघुवेतन कर्मचारी संघ के प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र शर्मा, पेंशनर्स संघ के प्रदेश अध्यक्ष अंबिका प्रसाद रावत के नेतृत्व में कर्मचारी संगठनों के पदाधिकारियों ने आज संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी राजेश कौल से मुलाकात की तथा उन्हें ज्ञापन सौंपकर पेंशनरों को मंहगाई भत्ते की शीध्र अनुमति प्रदान किये जाने का अनुरोध किया। 

कर्मचारी संगठनों ने साथ में यह भी ज्ञापन सौंपा कि वर्तमान में भीषण गर्मी पड़ने लगी है जिसके कारण मतदान का समय सुबह 8 बजे की बजाए सुबह 7 बजे किया जाए तथा शाम को 5 बजे के स्थान पर शाम 6 बजे तक मतदान का समय किया जाए। प्रतिनिधि मंडल में हीरालाल चौकसे, निहाल सिंह जाट, आर.के नामदेव, रमेश सिंह, सुरेन्द्र निगम एवं तैयब अजली सुनील ठाकरे, राजेन्द्र चौबे आदि शामिल थे। 

कर्मचारी संगठनों ने श्री कौल को सौंपे ज्ञापन में कर्मचारी नेताओं ने बताया कि छत्तीसगढ़ शासन द्वारा म.प्र. के पेंशनर्स को मंहगाई भत्ता देने हेतु सहमत होने के पश्चात् म.प्र. शासन के वित्त विभाग द्वारा राज्य में आदर्श आचार संहिता लागू होने के कारण मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी से अनुमति चाही गई है। ऐसी स्थिति में इस हेतु शीध्र सहमति प्रदान की जानी चाहिए, जिससे कि म.प्र. के पेशनर्स को भी केन्द्र के समान डी.ए. का भुगतान किया जा सके।