Loading...

बस एक फ्रेंड रिक्वेस्ट और आपका FACEBOOK ACCOUNT खत्म | TECHNOLOGY

ग्वालियर। यदि आप फेसबुक पर किसी विदेशी महिला या पुरुष को दोस्त बनाकर उसके भेजे किसी अनजान लिंक पर क्लिक कर रहे हैं तो सावधान रहने की जरूरत है। क्योंकि इस तरह फ्रेंड या लिंक पर क्लिक आपको महंगी भी पड़ सकती है। पिछले कुछ दिनों में इस तरह की कई घटनाएं हुई हैं। जिनमें अनजान लिंक पर क्लिक करते ही फेसबुक अकाउंट पर किसी और नाम व पहचान ने कब्जा कर लिया हो।

इस तरह समझिए

अतुल ने लिंक पर क्लिक किया और अब उसकी आईडी थोमस विलियम के नाम से शो होने लगी, उसका डेटा भी गायब हो गया। उसकी जगह किसी विदेशी का डेटा दिखने लगा। ग्रुप में अचानक फ्रेंड में कई विदेशी जुड़कर आपस में बातचीत करने लगे। बीते कुछ दिनों में ही इस तरह के 6 से 7 मामले आईटी सेल एसपी ऑफिस पहुंचे हैं।

90 दिन के लिए HACK होती है ID

जब फेसबुक आईडी हैक होने के बाद पीड़ित SP ऑफिस स्थित आईटी सेल पहुंचे तो एक्सपर्ट ने बताया कि फेसबुक पर नाम बदलने के लिए कुछ नियम में है। जिसमें लगातार तीन बार नाम बदलने के बाद 90 दिन के लिए आईडी पर कुछ भी बदलाव नहीं कर सकते। सभी पीड़ितों के केस में हैक करने वालों ने नाम बदल लिए थे। इसलिए 90 दिन तक पीड़ितों को मजबूरी में विदेशी नाम के साथ ही अपनी आईडी को झेलना पड़ा। 90 दिन बाद आईटी सेल के एक्सपर्ट ग्रुप ने पीड़िता के बदले पासवर्ड को ब्रेक कर न्यू पासवर्ड जनरेट कर उनकी आईडी बदली।

इनका कहना है

जब भी आप सोशल मीडिया पर होते हैं तो बेहद सावधान रहना चाहिए। अनजान लिंक पर क्लिक नहीं करना चाहिए। आईटी सेल में तैनात पुलिसकर्मी लगातार इस दिशा में काम कर रहे हैं। इस तरह के केस भी आ रहे हैं।
नवनीत भसीन, एसपी ग्वालियर

नहीं मिला चोरी गया DATA

90 दिन बाद जब आईटी सेल ने फेसबुक आईडी का हैकर्स द्वारा बनाया गया पासवर्ड ब्रेक कर न्यू पासवर्ड बनाया। साथ ही नाम बदलकर वापस उसी व्यक्ति के नाम आईडी बना दी। पर जो डेटा पहले था वह नहीं मिला। मतलब चोरी गया डेटा वापस नहीं आ सका।