Loading...

ज्यादातर स्टार्टअप फेल क्यों हो जाते हैं: 2 विशेषज्ञों ने बताया | CAREER

इंदौर। यूथ किसी भी नई जानकारी को तुरंत कॉपी करने लगते हैं। कोई व्यक्ति अगर किसी काम में सफल हो जाता है तो सिर्फ वही दिखाई देता है, जबकि उसके पीछे की कहानी पर जाएंगे तो पता लगेगा कि सफल होने वाला व्यक्ति कई कई बार असफल होने के बाद इस मुकाम पर पहुंचा है। यह कहना है यूट्यूबर और एजुकेटर सागर डुडेजा ( YouTuber and educator Sagar Dudeja ) का। वे एक निजी कॉलेज में TED x समिट में बोल रहे थे। इसका विषय 'चेंजिंग ऐरा' था।

कुछ ऐसा करें जो सोचने के लिए मजबूर कर दे / Do something that forces you to think

डुडेजा अब तक 50 हजार से ज्यादा युवाओं को गाइड कर चुके हैं। IAS और IPS अधिकारियों को ट्रेनिंग देते हैं। वे स्टूडेंट्स और समाज ( Students and society ) को दिशा देने के लिए यूट्यूब पर सिविल बीइंग नाम का चैनल चला रहे हैं। इस पर दुनियाभर के 1.3 मिलियन सबस्क्राइबर हैं और 4.5 करोड़ से ज्यादा लोग इसे देखते हैं। उन्होंने बताया कि IIT से एमटेक करने के बाद कई फील्ड में ट्राय किया, लेकिन टीचिंग क्षेत्र मुझे बेहतर लगा। उन्होंने बताया सोसाइटी में तनाव बढ़ रहा है। व्यक्ति के पास जितने ज्यादा ऑप्शन होते हैं वह उतना तनाव में रहता है। कुछ महीने पहले देशभर में बुक डोनेशन अभियान शुरू किया गया था। अब इसमें वर्ल्ड रिकार्ड बनाने की ओर आगे बढ़ रहे हैं।

गलत डायरेक्शन में एनर्जी लगा रहे हैं युवा / Energy put in the wrong direction are young

इस्कॉन के लाइफ कोच और मोटिवेशनल स्पीकर ब्रजमोहन दास (Motive Speaker Brojemohan Das ) IIT मुंबई से बीटेक ( BTech ) कर चुके हैं। उन्होंने कहा युवाओं के पास आगे बढ़ने के लिए सभी तरह के साधन मौजूद हैं, लेकिन वे समझ नहीं पाते हैं कि इसे एकत्रित कर कैसे आगे बढ़ा जाए। युवा दो तरह के डायरेक्शन में आगे बढ़ रहे हैं। एक वे हैं जो जीवन की सही दिशा में आगे बढ़ रहे हैं और दूसरे जो दिशाहीन हैं। दिशाहीन की संख्या बढ़ती जा रही है। रिलेशनशिप को लेकर ब्रजमोहन का विचार है कि जिस तरह अच्छा खाना बनाने के लिए हर सामग्री संतुलित चाहिए होती है उसी तरह रिलेशनशिप में भी छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखकर बैलेंस बनाया जा सकता है। युवाओं को खुद को सक्षम बनाने पर काम करना चाहिए। कैप्टन शालिनी सिंह ने महिलाओं को उनकी ताकत का अहसास दिलाने की कोशिश की। एजुकेटर दुर्गा गावड़े और टीवी कलाकार पूजा गौर ने भी समाज में आए बदलाव पर बात की।