LOKSABHA CHUNAV HINDI NEWS यहां सर्च करें




तुलसी कितने प्रकार की होती है: इस सवाल के जवाब ने डिप्टी कलेक्टर बना दिया | NATIONAL NEWS

24 January 2019

छत्तीसगढ़। क्या आप कभी सोच सकते हैं कि वनस्पति विज्ञान से जुड़ा एक सामान्य सा सवाल 'तुलसी कितने प्रकार की होती है' किसी को डिप्टी कलेक्टर बना सकता है। यदि किसी STUDENT से यह सवाल पूछेंगे तो वो मजाक उड़ाएगा लेकिन छत्तीसगढ़ के बजरंग वर्मा को इसी सवाल के जवाब ने Deputy collector बना दिया।

छत्तीसगढ़ PSC में 12वीं रैंक पाने वाले बजरंग वर्मा का 11 जनवरी को इंटरव्यू हुआ। पूछा गया कि आप कहां के रहने वाले हैं। बजरंग ने बताया उसके गांव का नाम है तुलसी-नेवरा। सवाल आया बजरंग आप तुलसी-नेवरा गांव के रहने वाले हैं, तो बताएं तुलसी कितने प्रकार की होती हैं? और इसके जवाब ने बजरंग को डिप्टी कलेक्टर बना दिया। 

आइए जानते हैं तुलसी कितने प्रकार की होती है, क्या फायदा होता है / How many types of basil are, What is the benefit


हिन्दू धर्म में तुलसी को मां लक्ष्मी का रूप मानकर घर के आंगन में पूजनीय स्थान दिया जाता है लेकिन इसके अलावा भी तुलसी के वैज्ञानिक व आयुर्वेद की दृष्टि से कई लाभ मिलते हैं। इस अनमोल पौधे के कुल 5 प्रकार होतेे हैं, जो स्वास्थ्य से लेकर वैज्ञानिक और आध्यात्मिक दृष्टि से महत्वपूर्ण है। 

जानिए तुलसी के यह 5 प्रकार / This 5 types of basil 

1) श्याम तुलसी,
2) राम तुलसी,
3) श्वेत/विष्णु तुलसी,
4) वन तुलसी,
5) नींबू तुलसी 

तुलसी के पांचों प्रकारों को मिलाकर इनका अर्क निकाला जाए, तो यह पूरे विश्व की सबसे प्रभावकारी और बेहतरीन दवा बन सकती है। एक एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-वायरल, एंटी-फ्लू, एंटी-बायोटिक, एंटी-इफ्लेमेन्ट्री व एंटी–डिजीज की तह कार्य करने लगती है। 



-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Suggested News

Loading...

Advertisement

Popular News This Week

 
-->