Loading...

महाराजा ज्योतिरादित्य सिंधिया ने राधौगढ़ की छोटी रानी को संवेदनहीन बताया | MP NEWS

ग्वालियर (GWALIOR)। मंत्री इमरती देवी (MINISTER IMARTI DEVI) की योग्यता (EDUCATION) पर सवाल खड़े हो गए हैं। भाजपा ने तो इसे मुद्दा बनाया ही कांग्रेस नेता एवं राधौगढ़ राजवंश के राजा दिग्विजय सिंह के भाई छोटे राजा लक्ष्मण सिंह की पत्नी छोटी रानी रुबीना शर्मा सिंह (RUBINA SHARMA SINGH) ने इस पर सबसे तीखा कटाक्ष किया। अब ग्वालियर राजवंश के महाराजा ज्योतिरादित्य सिंधिया (JYOTIRADITYA SCINDIA) ने मंत्री इमरती देवी पर सवाल उठाने वालों को संवेदनहीन बताया है। 

सोमवार को ग्वालियर आए सिंधिया ने कहा कि इमरती देवी की बात करने वालों में संवेदनशीलता बची ही नहीं है। सिंधिया ने सीएम का संदेश न पढ़ पाने को लेकर इमरती देवी का बचाव किया और कहा कि इमरती देवी बीमार थीं, जिसके चलते परेशान हुईं। सिंधिया ने कहा कि क्या हमारे देश और प्रदेश में संवेदनशीलता बची नहीं ? बता दें कि इमरती देवी सिंधिया खेमे की मंत्री हैं, उन्होंने सिंधिया को अपना भगवान बताया था। 

गौरतलब है कि गणतंत्र दिवस के मौके पर इमरती देवी सीएम का संदेश पढ़ ही नही पाई थीं, चार लाइन में उच्चारण की आठ गलतियां होने के बाद इमरती ने सीएम का संदेश कलेक्टर से पढ़वाया था। इसके बाद आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया था। मामले में सबसे पहले पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के छोटे भाई लक्ष्मण सिंह की पत्नी रुबीना शर्मा सिंह ने अपनी ही पार्टी की कमलनाथ सरकार पर कटाक्ष किया। रुबीना ने ट्विट कर कहा कि कमलनाथ सरकार में महिला बाल विकास मंत्री इमरती देवी, गणतंत्र दिवस पर कुछ लाइनों का भाषण भी नहीं पढ़ पाईं ये काफी शर्मनाक है। हालांकि बाद में उन्होंने अपना ट्वीट डिलीट कर दिया था।