Loading...

खबर का असर: कीचड़ स्नान कराने वाले कलेक्टर मंत्रालय अटैच, कमिश्नर को हटाया | MP NEWS

भोपाल। उज्जैन में श्री शनिश्चरी अमावस्या के अवसर पर पवित्र शिप्रा नदी में डुबकी लगाने आए श्रृद्धालुओं को 'कीचड़ स्नान' कराया गया। भोपाल समाचार की खबर देश भर में वायरल हुई और सभी टीवी चैनलों की सुर्खियां बन गईं। सीएम कमलनाथ ने पहले इस मामले की जांच के आदेश दिए और फिर कार्रवाई कर डाली। कलेक्टर को मंत्रालय अटैच कर दिया गया है वहीं कमिश्नर को भी हटा दिया गया है।

बता दें कि इस मामले को उज्जैन की लोकल मीडिया ने उठाया और भोपाल समाचार डॉट कॉम ने लिफ्ट कराया था। इसके बाद यह देश भर के टीवी चैनल और डिजिटल मीडिया की सुर्खियां बन गई। भोपाल समाचार डॉट कॉम में खबर आने के बाद मुख्यमंत्री ने पूरे मामले की रिपोर्ट मांगी थी। सोमवार को मुख्य सचिव एसआर मोहंती ने मुख्यमंत्री को पूरी घटना से अवगत कराया। रिपोर्ट में शनिचरी अमावस्या पर क्षिप्रा में पानी उपलब्ध नहीं कराने के लिए प्रशासनिक लापरवाही सामने आने की बात कही गई। जिसके बाद मुख्यमंत्री ने यह फैसला लिया। इसके साथ ही जल संसाधन एवं एनवीडीए के अफसरों पर भी तबादले की गाज गिरी है।

सीएम कमलनाथ ने कलेक्टर मनीष सिंह को मंत्रालय अटैच करते हुए उज्जैन का नया कलेक्टर शंशाक मिश्रा को बनाया गया है, जबकि संभागायुक्त एमबी ओझा की जगह अब अजीत कुमार कमिश्नर की जिम्मेदारी संभालेंगे।
ये है वो खबर जिसका हुआ असर