बच्चों को सिविल सर्विस/IAS EXAM की तैयारी कराना है तो 12th के बाद इस GUIDELINE का पालन करें

27 January 2019

हर माता पिता अपने बच्चों के लिए कुछ सपने देखते हैं और उसी के अनुसार बच्चे को परवरिश दी जाती है। उसे बचपन से याद करा दिया जाता है कि वो बड़ा होकर क्या बनेगा। उसके गुणदोषों का अध्ययन उसके माता पिता से बेहतर कौन कर सकता है। यदि आप भी पेरेंट्स हैं और अपने बच्चे को सिविल सर्विस (CIVIL SERVICES Exam Preparation) में भेजना चाहते हैं, यूपीएससी परीक्षा की तैयारी (UPSC Exam Preparation) करवाना चाहते हैं और आईएएस (IAS Exam Preparation) बनाना चाहते हैं तो बच्चे की 12वीं के बाद (AFTER 12th) आपको इस गाइडलाइन का पालन करना चाहिए।

ग्रेजुएशन में टॉप करने के लिए फोकस ना करें
बोर्ड परीक्षाओं में टॉप करने के लिए रेस लगी हुई थी परंतु अब टॉप वाली रेस से बच्चे को रिलेक्स कर दें। सिविल सर्विस एग्जाम के लिए बैचलर की डिग्री अनिवार्य है परंतु इस एग्जाम के लिए मिनिमम परसेंटेज की कोई शर्त नहीं है। अत: स्नातक की डिग्री सम्मानजनक परसेंटेज के साथ मिल जाए काफी है।

आईएएस परीक्षा की तैयारी के दौरान कौन सी पत्रिका पढ़ना ज्यादा लाभदायक रहेगा
आईएएस परीक्षा की तैयारी के दौरान सामान्य ज्ञान की जानकारी होना बहुत जरूरी है। इसके लिए भारत के प्रतिष्ठित समाचार पत्रों के संपादकीय पेज जरूर पढ़ें। हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं के अखबारों का अध्ययन करें। यह नियमित होना चाहिए। कुछ प्रमुख अखबार हैं जैसे - द हिंदू, दैनिक जागरण (राष्ट्रीय संस्करण), नई दुनिया, दैनिक भास्कर से भी उपयोगी सामग्री पढ़ सकते हैं। इसके अतिरिक्त बिज़नेस स्टैण्डर्ड जो हिंदी में भी उपलब्ध है उसके आर्थिक मुद्दे व सम्पादकीय पृष्ठ को पढ़ सकते हैं।

​डिग्री का वेट ना करें, फाइनल ईयर में फर्स्ट अटेंप्ट करा दें
ग्रेजुएशन की डिग्री का इंतजार ना करें, स्नातक फाइनल ईयर के स्टूडेंट्स भी यूपीएससी यानी संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा दे सकते हैं। अत: पहली परीक्षा इसी समय दिला दें। यह एक्सपीरिएंस के लिए होनी चाहिए। 

सिविल सर्विसेज एग्जाम में क्या होता है
सिविल सर्विसेज एग्जाम का आयोजन तीन चरणों में होता है। पहले नंबर पर आपको प्री क्लियर करना होता है। प्री क्लियर करने के बाद ही मेंस में बैठ सकते हैं। मेंस के बाद इंटरव्यू देना होता है। 

प्रीलिमिनरी एग्जाम
प्रीलिमिनरी एग्जाम में 2 कंपल्सरी पेपर होते हैं। जनरल अबिलिटी टेस्ट (गैट) और सिविल सर्विस ऐप्टिट्यूड टेस्ट (सीसैट)। सवाल वास्तुनिष्ठ प्रकार के होंगे। सवाल इंग्लिश और हिंदी, दोनों भाषा में होंगे। यह पेपर क्वालिफाइंग नेचर का होता है। ये कुल 400 अंकों के पेपर होते हैं। 

मेंस एग्जाम
आईएएस मेंस को दो टाइप में बांटा जाता है-क्वालिफाइंग एग्जाम और मेरिट एग्जाम। 

क्वालिफाइंग पेपर
1. पेपर ए: संविधान की छठी अनुसूचि में शामिल किसी भाषा में से एक भाषा 
2. पेपर बी: इंग्लिश 
ये दोनों पेपर 300-300 मार्क्स के होते हैं। 

मेरिट पेपर
मेरिट के 7 पेपर होते हैं जिनमें से सभी 250-250 मार्क्स के होंगे। यानी पेपर कुल 1750 अंकों को होगा। सभी पेपर 3-3 घंटे का होगा। 

इंटरव्यू
मेंस एग्जाम क्लियर करने वाले कैंडिडेट्स को इंटरव्यू/पर्सनैलिटी टेस्ट के लिए बुलाया जाता है। 



-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

;
Loading...

Popular News This Week

 
-->