Loading...

कांग्रेस पूर्व विधायक हेमंत कटारे की गिरफ्तारी के आदेश | Gwalior, high court news

भोपाल। ज्योतिरादित्य सिंधिया की टीम के कांग्रेस नेता एवं अटेर जिला भिंड से पूर्व विधायक हेमंत कटारे के खिलाफ गिरफ्तारी के आदेश जारी हुए हैं। आदेश मध्य प्रदेश हाईकोर्ट की ग्वालियर बैंच ने जारी किए हैं। कोर्ट ने इस मामले में पुलिस की कार्यप्रणाली पर कड़ी नारजगी जताते हुए याचिकाकर्ता को 10 हजार रुपए देने का भी आदेश दिया है। बताया गया है कि अटेर थाने में एससी-एसटी एक्ट के दर्ज अपराध क्रमांक 69 / 2017 में आरोपियों की गिरफ्तारी और अभियोग पत्र पेश करने के मामले में पुलिस की लापरवाही को लेकर पीड़ित पक्ष ने मध्य प्रदेश हाईकोर्ट की ग्वालियर खंडपीठ में एक याचिका दायर की थी। 

इस मामले में उच्च न्यायालय ने आदेश पारित करते हुए भिंड पुलिस अधीक्षक को आदेश दिया है कि वह फरार आरोपी हेमंत कटारे की गिरफ्तारी करें, साथ ही पीड़ित पक्ष को समुचित सुरक्षा व एट्रोसिटी एक्ट के तहत मिलने वाले लाभ दिलाएं। कोर्ट ने पुलिस को कटारे की गिरफ्तारी के लिए 30 दिन का समय दिया है। कोर्ट के आदेशानुसार पुलिस अधीक्षक को इस मामले में 12 फरवरी को हाईकोर्ट में पालन प्रतिवेदन प्रस्तुत करना है। आपको बता दें कि अटेर क्षेत्र के खेरी गांव में कल्याण सिंह जाटव के साथ कुछ लोगों ने मारपीट की थी। इसके बाद पुलिस ने सभी आरोपियों के खिलाफ अपराध 69 / 2017 दर्ज किया। 

इस घटना के कुछ महीनों बाद फिर से भिंड शहर के देहात थाना इलाके में रेलवे स्टेशन के पास पीड़ित से मारपीट की गई, जिसका मुकदमा देहात थाना पुलिस ने पंजीबद्ध किया था। इसी मामले में तत्कालीन अटेर एसडीओपी इंद्रवीर सिंह भदौरिया ने जांच के दौरान हेमंत कटारे को भी आरोपी बनाया था। पुलिस विभाग के आला अधिकारियों ने एसडीओपी इंद्रवीर सिंह भदौरिया की इस कार्रवाई को पक्षपातपूर्ण मानते हुए एसडीओपी इंद्रवीर सिंह भदौरिया को हटा दिया था। इसके बाद पुलिस ने केस में कोई कार्रवाई नहीं की। ना तो जांच करके हेमंत कटारे का नाम हटाया और ना ही गिरफ्तार किया।