Loading...

आदिवासी छात्र संगठन ने प्रोफेसर्स पर जातिगत भेदभाव का आरोप लगाया | DHAR MP NEWS

धार। आदिवासी छात्र संगठन (ACS) ने कलेक्टर कार्यालय के सामने विरोध प्रदर्शन किया एवं उच्च शिक्ष मंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। आदिवासी छात्र संगठन (ACS) ने प्रोफेसर्स पर जातिगत भेदभाव का आरोप लगाया। कहा कि सीसीई एवं प्रैक्टिकल में अंक जाति के आधार पर दिए जाते हैं। ऐसे जातिगत के आधार पर अंक देने वाले प्रोफेसरों को तुरंत हटाए जाने की मांग की गई है और पोस्ट मैट्रिक बालक छात्रावास के हॉस्टल अध्यक्ष को भी हटाए जाने की मांग की गई।

आदिवासी छात्र संगठन (ACS) ने ज्ञापन में बताया कि पी.जी.कॉलेज के B.A./B.sc /B.com के छात्रों को अभी तक पुस्तके नही मिल रही, जिससे छात्रों को पढ़ाई करने मै काफी परेशानी उठाना पड़ रही है। छात्रों के अभी तक छात्रवृती और आवास भत्ता के फार्म नही भरा रहे, जिससे छात्रों को परेशानी उठाना पड़ रही है। इन समस्याओं का समाधान अगर तीन दिन के अंदर नहीं होता है तो आदिवासी छात्र संगठन ने उग्र आंदोलन की चेतावनी दी। 

आदिवासी छात्र संगठन (ACS) के धार जिलाध्यक्ष-मुकामसिंह अलावा के नेतृत्व में छात्रों द्वारा पी.जी. कॉलेज से रैली के रूप में कलेक्टर कार्यालय पहुँचे। सेकड़ो की संख्या में छात्रों ने उच्चशिक्षा अधिकारी के नाम कलेक्टर कार्यालय में ज्ञापन दिया गया है, उक्त जानकारी आदिवासी छात्र संगठन(ACS) धार मिडिया प्रभारी मोहन मोरी अम्बासोटी ने दी।