LOKSABHA CHUNAV HINDI NEWS यहां सर्च करें




DENTAL DOCTORS आरपार की लड़ाई को तैयार, सरकार को दिया अल्टीमेटम | MP NEWS

28 January 2019

भोपाल। डेंटल सर्जन एसोसिएशन ऑफ़ इंडिया के तत्वाधान में मध्यप्रदेश के हज़ारों डेंटल चिकित्सकों और सरकार के बीच अब खुली जंग का एलान हो गया है, अपने हक़ के लिए दंत चिकित्सक चरणबद्ध आंदोलन की तैयारी कर रहे हैं। संगठन के प्रदेश पदाधिकारियों की बैठक अभी हाल ही में राजधानी भोपाल में सम्पन्न हुई जिसमे जल्द ही मांगों को पूरा ना होने पर MP के डेंटिस्टों ने आंदोलन करने की सारी योजना पर बातचीत की। इसी के साथ एक ज्ञापन भी दिया गया जिसमे सरकार को दिया मांग पूरी करने का अल्टीमेटम भी दिया गया, मुमकिन है यह आंदोलन आने वाले समय में सरकार के लिए बड़ी चुनौती हो सकती है।

डेंटल सर्जन एसोसिएशन ऑफ़ इंडिया के डाक्टर अजय चौकसे ने बताया कि WHO के अनुसार प्रत्येक 20000 व्यक्ति पर एक दंत चिकित्स्क की नियुक्ति होनी चाहिए पर सरकार होमियोपैथी, यूनानी, आयुर्वेदिक, बेटनरी, और अन्य डिग्री धारियों की नियुक्ति कर रही है लेकिन दंत चिकित्स्क को लेकर चुप्पी साधे हुए है। प्रदेश पदाधिकारियों की बैठक में सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि अब यह भेदभाव की नीति बर्दास्त नहीं की जाएगी, उन्होंने आने वाले दिनों में प्रदेश भर में श्रखलाबद्ध आंदोलन की बात कही। प्रदेश पदाधिकारी डाक्टर अजय चौकसे ने कहा कि सरकार ने मध्यप्रदेश में 14 डेंटल कॉलेज को मान्यता तो दे दी है पर उनमे अथक मेहनत और फीस के बाद उत्तीर्ण हुए हज़ारों दंत चिकित्सक का भविष्य आज भी अंधकार में ही है। 

श्री चौकसे ने कहा की पूर्व सरकार और वर्तमान सरकार डेंटल डॉक्टर्स के साथ जो अन्याय पूर्ण रवैया अपनाया है वह अब कतई सहन नहीं होगा, सरकार के समक्ष किये गए मर्यादित आग्रह को लगातार दरकिनार किया जा रहा है जिससे आज प्रदेशभर के  डेंटल डॉक्टर्स सड़कों पर उतरने को मजबूर है,भाजपा से लेकर कांग्रेस तक दोनों के घोषणापत्रों में दंत चिकित्सकों को नियुक्ति के नाम पर सिर्फ छला गया है जबकि अन्य राज्यों में नियुक्ति पर लगातार अमल हो रहा है। आज  प्रदेश में सैकड़ों कम्युनिटी हेल्थ सेंटर और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र है जिन पर एक भी दंत चिकित्सक नहीं है।

एसोसिएशन के प्रदेश पदाधिकारियों ने सरकार के समक्ष अंतिमअल्टीमेटम देते हुए कहा कि यदि जल्द ही उनकी नियुक्तियों के संदर्भ में कोई ठोस कदम नहीं किया गया तो प्रदेश भर के दंत चिकित्सक कतार बद्ध उग्र आंदोलन के लिए मजबूर हो जाएगें। हाल ही में  दंत चिकित्सकों द्वारा सरकार को जगाने के लिए सोशल मीडिया और ट्विटर पर "हक़ की लड़ाई" क साथ बड़ी मुहिम शुरू की गयी है जिसके अंतर्गत सरकार और विभाग से जुड़े व्यक्तियों को जल्द ही नियुक्ति संबंधी फैसला लेने के लिए कहा जा रहा है,इस अंतिम अल्टीमेटम के बाद सरकार से आर पार की लड़ाई को डेंटल डॉक्टर्स तैयार है.जिसको लेकर साइनिंग द पेटीशन फॉर गवर्मेंट जॉब्स ऑफ़ डेंटिस्ट के साथ आगामी 14 फरवरी को एक रैली के रूप में सी एम् हाउस तक मार्च निकाला जाएगा,जिसमे हज़ारो  दंत चिकित्सक भाग लेंगे, साथ ही प्रदेश के जिलों में भी आंदोलन के स्वरूप का आगाज़ किया जाएगा जो मांग पूरी ना होने तक जारी रहेगा।

बैठक में डॉ.जीतेश तम्रकार, डॉ.मनोज तिवारी, डॉ.मयक शर्मा, डॉ.आशुतोष दुबे, डॉ.अर्पण श्रीवास्तव, डॉ.कपिल चौधरी, डॉ.प्रबल प्रताप सिंह, डॉ.बबीता निरजन, डॉ.प्रतिभा शर्मा, डॉ.सूरज सिंह, डॉ.हीरा लाल चुकोटिया आदि सकड़ों चिकित्सक उपस्थित थे।



-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Suggested News

Loading...

Advertisement

Popular News This Week

 
-->