Advertisement

बीजेपी: लोकसभा उम्मीदवारों की लिस्ट पर काम शुरू, क्योंकि हर एक सीट जरूरी हो गई है



नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी का मिशन 2019 (Mission 2019) अब केवल भाषण और नारों का जुमला नहीं रहा बल्कि यह एक गंभीर और भाजपा के सम्मान के लिए बेहद जरूरी मिशन बन गया है और अमित शाह की टीम इस मिशन पर पूरी ताकत के साथ जुट गई है। इतना ही नहीं लोकसभा चुनाव के लिए उम्मीदवारों के चयन की प्रक्रिया भी शुरू हो गई है। माना जा रहा है कि इस बार राज्यसभा (Rajya Sabha) के कई दिग्गज नेताओं को चुनाव लड़ने के लिए मैदान में लाया जाएगा। 

पार्टी लोकसभा चुनाव (Lok Sabha election) में पूरी तैयारी से उतरेगी, जिसमें लोकसभा चुनाव में जीत की संभावना वाले राज्यसभा के लगभग एक दर्जन सांसदों को चुनाव लड़ाना शामिल है। इसके लिए उन राज्यों के राज्यसभा सांसदों को लिया गया है जिनके लोकसभा के लिए चुने जाने पर भी राज्यसभा की सीट भाजपा के पास में रहे। आम तौर पर बीजेपी के राज्यसभा के प्रमुख नेता पार्टी की चुनाव लड़ाने वाली टीम का हिस्सा होते हैं, लेकिन इस बार कुछ प्रमुख नेता चुनाव लड़ेंगे। 

सूत्रों के अनुसार, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी एक बार फिर अमेठी में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को चुनौती दे सकती हैं। मनोनीत सांसद रूपा गांगुली भी पश्चिम बंगाल में चुनाव लड़ सकती हैं। शत्रुघ्न सिन्हा को इस बार भाजपा का टिकट मिलने की संभावना नहीं है। ऐसे में केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद का नाम पटना साहिब सीट के लिए चर्चा में है।

बीजेपी के लिए ओडिशा के चुनाव इस बार महत्वपूर्ण हैं। वहां लोकसभा के साथ विधानसभा चुनाव भी है। ऐसे में केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान चुनाव मैदान में नजर आ सकते हैं। महाराष्ट्र में पूर्व मुख्यमंत्री नारायण राणे, हरियाणा में केंद्रीय मंत्री चौधरी वीरेंद्र सिंह, राजस्थान में किरोड़ीलाल मीणा, छत्तीसगढ़ में रणविजय सिंह जूदेव और हिमाचल प्रदेश में केंद्रीय मंत्री जगत प्रकाश नड्डा का नाम भी लोकसभा चुनाव लड़ने वाले संभावित नेताओं में शामिल है।

कई सांसदों के टिकट कटेंगे 
सूत्रों के अनुसार तीन राज्यों के विधानसभा चुनाव के बाद भाजपा अपनी रणनीति में कई बदलाव कर रही है। इसमें वह सरकार विरोधी माहौल की काट के लिए अपने कई मौजूदा सांसदों को बदल सकती है। उत्तर प्रदेश, राजस्थान, मध्य प्रदेश और गुजरात जैसे बड़े राज्यों में कई सीटों पर नए चेहरे लाने की तैयारी की जा रही है। राज्यों के कुछ प्रमुख नेता भी लोकसभा चुनाव लड़ेंगे। इनमें से कुछ नेताओं को तो लोकसभा चुनाव की तैयारी करने के संकेत भी दे दिए गए हैं।