BHOPAL अनुषा केस: DPS ने स्कूल बस के फुटेज नहीं दिए, रहस्य बरकरार | MP NEWS

Advertisement

BHOPAL अनुषा केस: DPS ने स्कूल बस के फुटेज नहीं दिए, रहस्य बरकरार | MP NEWS

भोपाल। दिल्ली पब्लिक स्कूल (DELHI PUBLIC SCHOOL NEELBAD BHOPAL) की छात्रा अनुषा बरतरिया की मौत का रहस्य बरकरार है। स्कूल ने पुलिस जांच में पूरा सहयोग देने का बयान दिया था परंतु पुलिस का कहना है कि अब तक उसे स्कूल बस की सीसीटीवी फुटेज नहीं दिए गए हैं। 

चलती बस में 2-3 सीट से गिर गई थी
डीपीएस की छात्रा अनुषा की अचानक मौत से उसके परिजन स्तब्ध हैं। उनका कहना है कि बिटिया सुबह हंसते-खेलते स्कूल गई थी। स्कूल में ऐसा क्या हुआ? कि वह सकुशल घर तक नहीं पहुंच सकी। परिजनों ने बताया कि स्कूल से घर आते समय बच्ची 2-3 बार सीट से गिर भी पड़ी थी। उधर पुलिस का कहना है कि अभी स्कूल प्रबंधन ने उन्हें अभी बस के फुटेज उपलब्ध नहीं कराए हैं, इस वजह से इस बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता।

जहर से मौत का संदेह
अवधपुरी में रहने वाली 8 साल की अनुषा बरतरिया की पीएम रिपोर्ट अभी नहीं मिली है लेकिन पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टरों ने परिजनों को संदिग्ध जहर से मौत की आशंका जताई है। अवधपुरी थाना प्रभारी एमएल भाटी ने बताया कि स्कूल प्रबंधन ने स्कूल परिसर के कुछ फुटेज दिए हैं। उनका परीक्षण वह परिजनों से कराएंगे। लेकिन अभी पुलिस को बस के अंदर के फुटेज नहीं मिले हैं।

स्कूल में आधी रोटी खाई थी, पीया था दो घूंट पानी
अनुषा के चाचा योगेंद्र बरतरिया ने बताया कि उनकी भतीजी टिफिन में रोटी,सब्जी,संतरे की दो फांक,तीन छुआरा और कुछ बादाम के साथ ही पानी की बोतल भी ले गई थी। घटना के बाद परिजनों ने अनुषा का टिफिन चेक किया था। स्कूल में उसने सिर्फ आधी रोटी खाई थी और बोतल से दो घूंट पानी पीया था। डॉक्टरों द्वारा जहर की आशंका जताने के बाद पुलिस ने टिफिन और पानी की बोतल जांच के लिए रख ली है।

क्या पता था कभी नहीं लौटेगी अनुषा
रोजाना की तरह शुक्रवार सुबह भी अवनींद्र और रश्मि अपनी लाडली को स्कूल के लिए बस स्टाप तक छोड़ने गए थे। उन्होंने सपने में भी नहीं सोचा था कि अब उनकी बेटी कभी घर नहीं लौटेगी। योगेंद्र ने बताया कि अनुषा की छोटी बहन अनिका भी डीपीएस के नर्सरी में पढ़ती है। उसके स्कूल जाने-आने का समय अलग है। अनुषा के नाना-नानी पेशे से डॉक्टर हैं। अनुषा 31 दिसंबर को ही छिंदवाड़ा से नामा डॉ.राकेश श्रीवास्तव के घर लौटी थी और काफी खुश थी। घटना की सूचना मिलते ही राकेश श्रीवास्तव भी भोपाल आ गए। वह नातिन की अचानक मौत से स्तब्ध हैं।

हाथ में खरोंच के निशान मिले
अनुषा के हाथ पर खरोंच के निशान मिले थे। मामले की जांच कर रहे एसआई आरपी यादव ने बताया कि संभवतः स्कूटर से गिरने के दौरान बच्ची के हाथ में खरोंच लगी होगी। अनुषा की मौत के बारे में स्पष्ट राय पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिलने के बाद ही दी जा सकती है।