Loading...

SCINDIA ने जिस महिला को मंत्री बनाया वो ढंग से शपथ तक नहीं पढ़ पाई | MP NEWS

भोपाल। कांग्रेस के त्रिदेवों में से एक सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मध्यप्रदेश सरकार में 7 मंत्री दिए हैं। इनमें से एक हैं डबरा की महिला विधायक इमरती देवी। ये वही महिला विधायक हैं जिन्होंने अपना पालतु कुत्ता खो जाने पर हंगामा मचा दिया था। इमरती देवी कहतीं हैं कि वो सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को भगवान की तरह पूजतीं हैं। आज शपथग्रहण समारोह के दौरान सिंधिया की कृपा से कैबिनेट मंत्री बनीं इमरती देवी हिंदी में लिखी चार लाइनें भी सही तरीके से नहीं पढ़ सकीं। इमरती देवी 4 लाइन की शपथ लेते समय चार बार अटकीं। 

मात्र 5 साल में कई गुना बढ़ी PROPERTY

इमरती देवी को सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ही टिकट दिया था। उन्होंने डबरा से बीजेपी प्रत्याशी कप्तान सिंह को 57446 वोटों के अंतर से हराया है। 12वीं पास इमरती देवी पहली बार 2013 में अपना चुनावी हलफनामा भरा था। तब उनके पास एक अदद मारुति 800 कार तक नहीं थी लेकिन अगले 5 साल में उन्होंने दो गाड़ी खरीदीं। जिनमें से एक फॉर्च्यूनर कार है जिसकी कीमत 30 लाख रुपए से अधिक है। दूसरी कार स्कॉर्पियो है। 2018 के चुनावी हलफनामें में उनके पास 7.37 लाख रु. कैश, जबकि पति के पास 2.6 लाख रुपए नगद थे। इमरती देवी ज्वैलरी और हथियरों की भी शौकीन हैं। 

विभागीय नोटशीट कैसे पढ़ेंगी मंत्रीजी

समारोह में मौजूद लोग सोशल मीडिया पर सवाल कर रहे हैं कि जो मंत्री हिंदी में लिखी गई शपथ को नहीं पढ़ पा रहा था वो अपने विभागी की टिपिकल सरकारी हिंदी में लिखी गईं नोटशीट कैसे पढ़ेंगी। कहीं ऐसा ना हो कि अधिकारी और दूसरे कुछ शातिर लोग इनकी मासूमियत का फायदा उठा लें।