Advertisement

बैठक में शिवराज सिंह की आभार यात्रा खारिज, माई का लाल बयान जिम्मेदार | MP NEWS



भोपाल। भारतीय जनता पार्टी की संभागीय बैठकों में हार के कारणों को दर्ज करने का सिलसिला शुरू हो गया। भोपाल एवं होशंगाबाद संभाग की बैठक प्रदेश कार्यालय में आयोजित की गई। इस बैठक में शिवराज सिंह चौहान की प्रस्तावित आभार यात्रा को खारिज कर दिया गया। इसके अलावा हार के लिए शिवराज सिंह के 'माई का लाल' बयान और पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा किए गए 'एससी/एसटी एक्ट मे संशोधन' को भी जिम्मेदार माना गया। 

आभार यात्रा का प्रस्ताव खारिज
संभागीय स्तर पर हो रही समीक्षा बैठकों में नेता एक-दूसरे पर खुलकर आरोप-प्रत्यारोप लगा रहे हैं। शनिवार को पार्टी दफ्तर में भोपाल व होशंगाबाद संभाग की बैठक हुई, जिसमें पूर्व सांसद रघुनंदन शर्मा ने सीधे तौर पर कटाक्ष किया कि जब जनादेश ही नहीं मिला तो आभार यात्रा किसलिए? इसका अब क्या मतलब? रघुनंदन यहीं नहीं रुके। संभाग प्रभारी व विधायक अरविंद भदौरिया व संगठन मंत्री आशुतोष तिवारी की मौजूदगी में तमाम नेताओं ने खुलकर हार के कारणों को गिनाया।

अब भी नहीं कहेंगे तो कहां कहें: पूर्व सांसद रघुनंदन शर्मा
हम जैसों को चुनाव में पूछा तक नहीं गया। राष्ट्रीय संगठन महामंत्री रामलाल ने एक दिन फोन किया और संतों को मनाने का काम दिया। मैं और माखन सिंह संतों से मिले और चित्रकूट तक गए। लौटे तो किसी ने रिपोर्ट तक नहीं ली। शर्मा को बोलने से रोका गया तो वे बोले- अब भी नहीं कहेंगे तो कहां कहें? 

रामेश्वर शर्मा के ऑडियो से हार हुई
पूर्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता के चुनाव संचालक रामदयाल प्रजापति ने कहा कि चुनाव के दौरान जो ऑडियो (विधायक रामेश्वर शर्मा से जुड़ा) आया था, जिसकी वजह से हार हुई। उसके खिलाफ क्या कार्रवाई होगी? इस पर भदौरिया ने कहा लिखित में दो। मामला गंभीर है। संगठन के भी संज्ञान में है। ऑडियो की जांच भी करा लें।  

तो फिर सर्वे क्यों कराए गए ?
पूर्व विधायक रमेश शर्मा ने कहा कि सर्वे के आधार पर टिकट ही नहीं बंटे तो फिर सर्वे क्यों कराए गए?

एट्रोसिटी, किसान, माई का लाल सबका नुक्सान हुआ
पर्यटन निगम के पूर्व अध्यक्ष तपन भौमिक ने कहा कि एट्रोसिटी, किसानों की नाराजगी और कर्जमाफी के साथ माई के लाल वाले जैसे बयानों से नुकसान हुआ।