Advertisement

'हो सके तो मुझे माफ करना' लिख छात्रा ने किया सुसाइड | INDORE NEWS



इंदौर। गुरुनानक नगर में बीकॉम की छात्रा ने फांसी लगा ली। आत्महत्या के पहले उसने एक पर्ची पर 'हो सके तो मुझे माफ करना' लिखा था। बुधवार शाम करीब 6.30 बजे मामा कॉलेज से लौटा तो दरवाजा अंदर से बंद मिला। धक्का देकर अंदर गया तो घटना का पता चला। छात्रा 15 दिन पहले ही अपने गांव से आई थी। अक्टूबर में उसके बड़े भाई की सड़क हादसे में मौत हो गई थी। इसके बाद से वह गुमसुम रहने लगी थी। वह अपने मामा और मौसी के साथ किराए के कमरे में रहकर पढ़ाई कर रही थी। 

अन्नापूर्णा पुलिस के मुताबिक, मृतक सौम्या (17) पिता अजमेरसिंह डावर है। एसआई तौसिफ अली ने बताया कि सोमिया मूलतः जोबट (आलीराजपुर ) की रहने वाली थी। वह जीएसीसी से बीकॉम प्रथम वर्ष की पढ़ाई कर रही थी। वह मामा गौतम चौहान और मौसी शीतल के साथ किराए के कमरे में रहती थी। गौतम होलकर कॉलेज में बीएससी फाइनल ईयर का छात्र है, जबकि शीतल प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रही है। मामा गौतम ने पूछताछ में बताया कि सौम्या के पिता किसान हैं। उसके बड़े भाई रवि की 28 अक्टूबर को सड़क हादसे में मौत हो गई थी। छोटा भाई अभिषेक 10वीं में पढ़ता है। 

बड़े भाई की मौत के बाद से सोमिया डिप्रेशन में थी। परीक्षा होने की वजह से उसे 15 दिन पहले ही गांव से बुलाया था। घटना का पता चलने के बाद उसने मकान मालिक, दोस्त और पुलिस को हादसे की सूचना दी। पुलिस ने छात्रा का मोबाइल और सुसाइड नोट जब्त कर लिया है। गुरुवार को जिला अस्पताल में उसका पीएम करवाया जाएगा।