GWALIOR: राधा ने कहा ये इंजीनियरिंग की पढ़ाई ही छोड़ दूंगी, फिर फांसी पर झूलती मिली | MP NEWS

11 December 2018

ग्वालियर। आईआईटी में चयन नहीं होने से डिप्रेशन में चल रही इंजीनियरिंग छात्रा ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। घटना दीनदयाल नगर में सोमवार दोपहर हुई। छात्रा पढ़ने में होशियार थी, उसका एमआईटीएस में प्रवेश हो चुका था लेकिन उसका सपना आईआईटी में पढ़ने का था। इसके लिए उसने तीन बार प्रयास किए, लेकिन चयन नहीं हो सका। छात्रा सुबह परिजन से बोल रही थी कि अब वह कभी आईआईटी नहीं देगी और इंजीनियरिंग की पढ़ाई भी छोड़ देगी, लेकिन दोपहर में उसने यह कदम उठा लिया।

दीनदयाल नगर के सेक्टर एफएम-444 में रहने वाले जेपी मिश्रा मालनपुर स्थित केडबरी फैक्टरी के प्रोडक्शन में टेक्नीशियन हैं। उनकी बेटी राधा मिश्रा उम्र 21 वर्ष एमआईटीएस में बीई तृतीय वर्ष की छात्रा थी। उनका बेटा आयुष 12वीं में पढ़ रहा है। सोमवार को वह ड्यूटी के लिए रवाना हुए। घर में उनकी पत्नी मिथलेश और दोनों बच्चे ही थे। सुबह करीब 11 बजे दोनों बच्चों ने साथ में खाना खाया। इसके बाद बेटी दूसरी मंजिल पर बने स्टडी रूम में चली गई। बेटा नीचे ही पढ़ रहा था। मिथलेश सो रही थीं। 

शाम करीब 4 बजे वह उठीं और बेटी को आवाज दी। जब उसका कोई जवाब नहीं आया तो वह ऊपर गईं। ऊपर देखा तो कमरे में बेटी फांसी के फंदे पर लटकी थी। यह देखकर वह जोर से चीखीं और वहीं गिर पड़ी। आवाज सुनकर बेटा दौड़ा। चीख पुकार मचने पर पड़ोस में रहने वाले लोग आ गए। लोगों ने श्री मिश्रा को फोन किया और तुरंत 108 एंबुलेंस को भी बुलाया। राधा के गले से फंदा खोलकर नीचे उतार लिया। एंबुलेंस से डॉक्टर आया, जब चेकअप किया तो उसकी सांसें थम चुकी थीं। मौके पर पहुंची पुलिस ने कमरे की तलाशी ली लेकिन सुसाइड नोट नहीं मिला।

घर के किसी कमरे में नहीं मिला राधा का मोबाइल
राधा के पिता जेपी मिश्रा बच्चों की पढ़ाई में कोई कमी नहीं रखते थे। राधा ने 2014 में एबजेनर स्कूल से 12वीं पास की, उस समय 94 प्रतिशत अंक आए थे। राधा का सपना आईआईटी में पढ़ने का था तो श्री मिश्रा ने उसे कोचिंग जॉइन कराई। लेकिन बहुत कम अंतर से उसका चयन नहीं हुआ। उसका प्रवेश एमआईटीएस में तो हो गया लेकिन वह संतुष्ट नहीं थी। वह कुछ महीनों से अधिक उदास रहती थी, उसके पिता हर पल समझाते थे कि हम सभी तुम्हारी मेहनत से संतुष्ट हैं। उसे यही कहते थे कि जो होगा अच्छा होगा। लेकिन इसके बाद भी राधा ने फांसी लगा ली। बेटी के शव को देखकर मिश्रा बेहोश हो गए।

फेसबुक अकाउंट भी जांच की जद में
राधा का फेसबुक अकाउंट भी पुलिस चेक कर रही है। उससे भी पुलिस को काफी मदद मिली है। 4 मई को उसने पोस्ट किया है ' इन अ रिलेशनशिप'यहां वह किसी डीपीटी का जिक्र कर रही है। इसके बाद 30 अगस्त को एक हंसता हुआ फोटो अपलोड कर लिखा है -'ऑनली फॉर देव प्रभाकर तोमर' अब यह यदि इस नाम की शॉर्ट फॉर्म करें तो डीपीटी हो सकता है। अब इन पोस्ट का कोई लेना देना हो तो पुलिस उस पर आगे जांच कर रही है। साथ ही छात्रा के मोबाइल की भी जांच की जाएगी कि आखिर समय किससे बात हुई थी।

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->