Loading...

फंस गए कलेक्टर, सरकारी रसोई में बना भाजपा का खाना, कलेक्टर ने रसोई सील नहीं कराई | VIDISHA MP NEWS

भोपाल। इस मामले में विदिशा कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह सीधे फंसते नजर आ रहे हैं। पीएम नरेंद्र मोदी की सभा में आने वाले भाजपा कार्यकर्ताओं के लिए विदिशा शहर की बस स्टेंड स्थित सरकारी दीनदयाल रसोई में खाने में 5000 डिब्बे पैकेट मिले हैं। कांग्रेस ने मौके पर छापामारी की और फोटो व वीडियो बनाए। 

हलवाई दिनेश बैरागी का कहना था कि उन्हें करीब 5 हजार खाने के बाक्स पैक करने का आर्डर मिला है। उनका कहना था कि यह काम पुलिसकर्मियों के लिए किया जा रहा है। जबकि आरआई सुरेंद्र सिकरवार का कहना था कि हमनें तो सिर्फ 1500 भोजन के बॉक्स तैयार करने का काम दिया है। बाकी बॉक्स किसके तैयार हो रहे हैं, हमें नहीं मालूम। 

कांग्रेस के प्रदेश सचिव रवि साहू का आरोप था कि भाजपा नेता गलत ढंग से दीनदयाल रसोई में अपने कार्यकर्ताओं के लिए भोजन बनवा रहे थे। आचार संहिता में ऐसा करना गलत है। एक पार्टी के कार्यकर्ताओं के लिए इस तरह सरकारी सिस्टम का उपयोग नहीं किया जा सकता।

कलेक्टर ने मामले को टालने की कोशिश की
कौशलेंद्र विक्रम सिंह, कलेक्टर विदिशा ने मामले को टालने की कोशिश की। मामला शहर का था। तत्काल कार्रवाई की जा सकती थी परंतु नहीं की गई। प्रधानमंत्री की सभा से पहले विवाद की स्थिति से बचने के लिए रसोई को तत्काल सील करवा दिया जाना चाहिए था परंतु नहीं किया गया। बयान सामने आया है कि'मैंने इस संबंध में टीम को जांच करने भेजा था। रात होने की वजह से जानकारी नहीं ले पाया। टीम आज जांच के बाद रिपोर्ट सौंपेगी।'