शिवराजसिंह पैसे के लिये किसी भी कानून को नष्ट कर सकते हैं: राहुल गांधी | MP NEWS

16 November 2018

भोपाल। अखिल भारतीय कांग्रेस अध्यक्ष श्री राहुल गांधी ने आज सागर के देवरी में आयोजित चुनावी सभा में कहा कि नरेन्द्र मोदी पहले कहते थे कि ‘‘न खाऊंगा और न खाने दूंगा, छप्पन इंच की छाती, प्रधानमंत्री नहीं चौकीदार हूं।’’ लेकिन ये बातें वे आज नहीं करते क्योंकि आज करेंगे तो लोग जनता बोलेगी चौकीदार चोर है। उन्होंने कहा कि हिन्दुस्तान को छोटे किसान, व्यापारी, युवा और मजदूर, चलाते हैं। हिन्दुस्तान को कालेधन वाले चोर नहीं चलाते। लेकिन मोदी ने नोटबंदी करके सारे ईमानदारों, खेतों में काम करने वाले किसानों, छोटे व्यापारियों और महिलाओं को बैंक की लाईन में लगा दिया। लाईन में बड़े उद्योगपति नहीं लगे। नोटबंदी से बड़ा घोटाला इस देश में कभी नहीं हुआ। आने वाले समय में यह बात साफ हो जायेगी। नोटबंदी में गरीबों की जेब से पैसा निकाल कर अमीरों की जेब में डाल दिया। 

श्री राहुल गांधी ने कहा कि मध्यप्रदेश का व्यापमं घोटाला सेन्चुुरी का सबसे बड़ा घोटाला है। पचास लोग मारे गये। शिक्षा का पूरा सिस्टम नष्ट कर दिया। यहां जो चीटिंग नहीं कर सकता, वह परीक्षा पास नहीं कर सकता। सब जानते हैं कि व्यापमं में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह और उनके परिवार का रोल था। तीन हजार करोड़ का ई-टेंडरिंग घोटाला हुआ। सभी ठेके परिवार के लोगों और मित्रों को मिल गये। नर्मदा रेत घोटाला, मध्यान्ह भोजन घोटाला आदि में या तो कोई रिश्तेदार या दोस्त शामिल है। शिवराजसिंह पैसे के लिए किसी भी कानून को तोड़ सकते हैं। शिक्षा के सिस्टम को नष्ट कर सकते हैं। मध्यप्रदेश में 29 हजार बच्चे कुपोषण के शिकार हैं। दो लाख 21 हजार मलेरिया, आठ हजार डेंगू, पांच हजार 600 चिकुनगुनिया के केस हैं। पूरा स्वास्थ्य का सिस्टम निजी हाथों में चला गया। एक ओर भ्रष्टाचार है तो दूसरी ओर बंद स्कूल, बंद अस्पताल, व्यापमं कांड हैं। हमें दो हिन्दुस्तान नहीं चाहिये। एक 15-20 अमीरों का और दूसरा भारतवासियों का। हमें तो एक ही हिन्दुस्तान चाहिए। 

राहुल गांधी ने कहा कि शिवराजसिंह तो रास्ते चलते घोषणाऐं करते जाते हैं, लेकिन मैं झूठे वायदे नहीं करता। मैं 15 साल से राजनीति में हूं। मैंने कहा था कि किसानों की जमीन जबरदस्ती नहीं ली जायेगी उससे पूछकर ली जायेगी और उसे अधिग्रहित जमीन की अच्छी कीमत मिलेगी। हमने किसानों की जमीन का अधिग्रहण का बिल लाये। कहा था रोजगार देंगे तो मनरेगा लाये। गरीबों को भोजन का अधिकार दिया। आरटीआई का कानून दिया, जिसे मोदी ने गुजरात में खत्म कर दिया। उन्होंने कहा कि किसानों का 10 दिन में कर्जा माफी का वादा कोई मुफ्त उपहार नहीं नहीं, यह किसानों का हक है। किसानों का पैसा हम किसानों को वापस देना चाहते हैं। यह आपकी मजदूरी है, आपका पसीना है। 

राहुल जी ने कहा कि जहां-जहां भाजपा की सरकार है, वहां यदि युवाओं से पूछो कि क्या करते हो तो जबाव मिलता है, कुछ नहीं करते। मोदी जी ने मेक इन इंडिया, स्टार्ट अप इंडिया, स्क्लि इंडिया, डिजीटल इंडिया की बड़ी-बड़ी बातें करते हुए कहा था कि दो करोड़ युवाओं को रोजगार देंगे। वे 24 घंटे में 450 युवाओं को ही रोजगार दे रहे हैं। मध्यप्रदेश में 35 लाख बेरोजगार हैं। हताश युवा आत्महत्या कर रहे हैं। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री रोजगार के बारे में कुछ नहीं बोलते हैं। यहां एक लाख सरकारी कर्मचारियों, 40 हजार शिक्षकों के पद खाली हैं। उन्होंने 15 साल में किसी युवा को रोजगार नहीं दिया। दो लाख से अधिक संविदा कर्मचारी हैं। दुख की बात है कि उन्हें पैसा तो कम मिलता ही है और यह भी डर रहता है कि पता नहीं कब निकाल दिये जायें। मध्यप्रदेश में कांगे्रस की सरकार बनने पर हम सभी पद भरेंगे। 

श्री गांधी ने कहा कि शिवराजसिंह ने 15 साल में किसानों की बिलकुल मदद नहीं की। आज किसानों का बोनस छीनते हैं, फसल का सही दाम नहीं मिलता न्यूनतम समर्थन मूल्य नहीं मिलता, ओला-बारिश होने पर मुआवजा नहीं मिलता। उधर केंद्र में मोदी जी यूपीए सरकार द्वारा लाये गये जमीन अधिग्रहण बिल को रद्द करने की तीन बार कोशिश कर चुके हैं। मोदी जी बतायें कि किसानों का कर्जा माफ क्यों नहीं किया। मेरे सवालों का उनके पास कोई जबाव नहीं है। आप कर्नाटक, पंजाब में जाकर पूछिये कि चुनाव के पहले राहुल गांधी ने सच बोला था या झूठ। आपको जबाव मिल जायेगा। यहां कांगे्रस पार्टी की सरकार आने वाली है। मध्यप्रदेश को एग्रीकल्चर प्रोडक्शन का केंद्र बनाने का मेरा सपना है, जिसे पूरा करने के लिये सबको मिलकर काम करना है। हम प्रदेश के हर जिले में फुड प्रोसेसिंग कारखाना लगायेंगे, जहां किसान सीधे जाकर अपने उत्पाद अच्छी कीमतों पर बेच सके। 

प्रदेश कांगे्रस अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा कि मध्यप्रदेश में कृषि क्षेत्र की सबसे बड़ी चुनौती है, नौजवानों के सामने रोजगार की समस्या है। प्रदेश में असुरक्षित महिलायें और आत्महत्या कर रहे किसानों और युवाओं की तस्वीर आपके सामने हैं। किसानों की आत्महत्या और बलात्कार में मध्यप्रदेश नंबर वन है। सच्चाई को समझे और एक-एक सीट कांग्रेस की झोली में डालंे। हम मध्यप्रदेश में एक नई व्यवस्था लाना चाहते। किसानों, नौजवानों और छोटे व्यापारियों के चेहरों पर मुस्कुराहट देखना चाहते हैं। 

इस अवसर पर सागर जिले के आसपास से अपार जनसमूह राहुल गांधी जी को सुनने पहुंचे था। कार्यक्रम में दीपक बावरिया, हीरासिंह राजपूत, रेखा चैधरी, सुधांशु त्रिपाठी, प्रभुराम चैधरी, गोविंद सिंह राजपूत, सुरेन्द्र चैधरी, अरूणोदय चैबे, हर्ष यादव, कमलेश साहू, नेमी जैन, शशि कथूरिया, सुरेश चंदानी सहित मोर्चा संगठनों के अध्यक्ष, पदाधिकारी उपस्थित थे।

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->