Loading...

महिलाओं के प्रति गंदी है कमलनाथ और कांग्रेस की सोच: भाजपा | MP NEWS

भोपाल। कांग्रेस और उसके नेता बार-बार महिलाओं के प्रति अभद्र टिप्पणियां करते रहे हैं। ये महिलाओं के प्रति कांग्रेस और उसके नेताओं की सोच और उनके दूषित संस्कारों का उदाहरण हैं। इसके चलते अब तो लोग कांग्रेस में अपने परिवार की बहन बेटियों को भेजने से पहले सोचने लगे हैं। यह बात भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश प्रवक्ता सुश्री राजो मालवीय ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा महिलाओं को ‘सजावटी’ बताए जाने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कही।

सुश्री राजो मालवीय ने कहा कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने अपनी ही पार्टी की उन महिलाओं को ‘सजावटी’ कहकर संबोधित किया है, जो अपने घर-परिवार की, कॅरियर की तमाम परेशानियों से जूझते हुए पार्टी का काम करती हैं। कमलनाथ के इस रवैये से प्रदेश की आधी आबादी चिंतित है। उन्होंने कहा कि इस टिप्पणी से कमलनाथ की विकृत, वीभत्स और घृणित मानसिकता ही झलकती है। सुश्री मालवीय ने कहा कि मध्यप्रदेश में महिलाओं का सम्मान किया जाता है और लोग उनके नाखूनों को प्रणाम करते हैं। लेकिन अब कांग्रेसी नेताओं के इस रवैये के चलते लोग अपनी बहन बेटियों को कांग्रेस में भेजने से पहले सोचने लगे हैं, क्योंकि कांग्रेस के संस्कार ही ऐसे हैं।

राहुल गांधी बताएं, क्या लड़कियों के छेड़ने जाते हैं मंदिर
सुश्री मालवीय ने कहा कि कांग्रेस नेताओं द्वारा महिलाओं के अपमान का यह पहला मामला नहीं है। इससे पहले कई नेता और स्वयं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी इस तरह की टिप्पणियां कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की ओर से मध्यप्रदेश को बलात्कारी प्रदेश कहकर प्रदेश की महिलाओं का अपमान किया गया। फिर पूर्व मुख्यमंत्री मि.बंटाढार ने एक महिला को ‘टंच माल’ कहकर संबोधित किया। कांग्रेस नेता चेरियन फिलिप्स ने यह कहकर महिलाओं को अपमानित किया कि चुनाव में टिकट हासिल करने के लिए महिलाओं को यौन संबंध बनाना पड़ते हैं। कांग्रेस शासन में मंत्री रहे स्व. सत्यदेव कटारे ने कहा था कि महिलाओं से छेड़छाड़ तब होती है, जब वे मुस्कुरा कर, तिरछी नजर से किसी की तरफ देखती हैं। सुश्री मालवीय ने कहा कि स्वयं राहुल गांधी यह कहकर बहन-बेटियों का अपमान कर चुके हैं कि लोग लड़कियों को छेड़ने के लिए मंदिर जाते हैं। उन्होंने राहुल गांधी से सवाल किया कि चुनावी माहौल में राहुल गांधी आजकल मंदिर-मंदिर घूम रहे हैं, राहुल बताएं कि क्या वे लड़कियों को छेड़ने के लिए मंदिरों में जा रहे हैं ?