Advertisement

अपनी सिम दूसरे के MOBILE में कभी ना लगाना वरना..... | NATIONAL NEWS



इंदौर। शहर की साइबर सेल टीम ने ऑनलाइन फ्रॉड करने वाले युवक को गिरफ्तार किया है। उसने रुपयों की खातिर अपने ही दोस्त को धोखा दिया। उसने दोस्त की सिम खुद के मोबाइल में लगाई और ओटीपी (वन टाइम पासवर्ड) लेकर पेटीएम के माध्यम से वॉलेट में हजारों रुपए ट्रांसफर कर लिए।

साइबर सेल एसपी जितेंद्र सिंह के मुताबिक 26 अप्रैल 2018 को कृष्णबाग कॉलोनी निवासी प्रदीप कुमार रघुवंशी ने शिकायत की थी कि उनके पेटीएम खाते का उपयोग कर किसी बदमाश ने 32,380 रुपए ट्रांसफर कर लिए हैं। टीम ने ऑनलाइन धोखाधड़ी होने पर जांच शुरू की। तकनीकि जांच और पेटीएम खाते से निकाली गई जानकारी में खुलासा हुआ कि प्रदीप के दोस्त सुखेंद्र मिश्रा निवासी कैलाशपुरी, रीवा का हाथ है।

प्रदीप के वॉलेट में रुपए ट्रांसफर हुए थे। शक के बिना पर सुखेंद्र मिश्रा को पकड़कर पूछताछ की तो उसने जुर्म कबूल लिया। प्रदीप और सुखेंद्र की दोस्ती अच्छी थी। वे दोनों एक साथ रहते थे। दोनों एक ही कंपनी में जॉब भी करते थे। सुखेंद्र को प्रदीप के क्रेडिट कार्ड का नंबर भी पता था, इसी का फायदा उठाकर उसने वारदात को अंजाम दिया है।

प्रदीप सुखेंद्र को अच्छा दोस्त मानकर उस पर विश्वास करता था। उसका मोबाइल जब खराब हुआ तो सिम निकालकर सुखेंद्र के मोबाइल में लगा ली। सुखेंद्र को कार्ड का नंबर तो पता था लेकिन ओटीपी की जानकारी नहीं थी। सिम के माध्यम से उसने ओटीपी निकाल लिया और फिर अपने वॉलेट में रुपए ट्रांसफर कर लिए।