सीबीआई के DIG ने सुप्रीम कोर्ट में कहा: डोभाल ने छापा मारने से रोका, मंत्री ने रिश्वत ली है | NATIONAL NEWS

20 November 2018

नई दिल्ली। भारत के रेड कार्पेट पर काले दाग बढ़ते जा रहे हैं। पीएम नरेंद्र मोदी की सरकार को देश में अब तक की सबसे ईमानदार सरकार माना जाता था। लोगों ने सीबीआई में आलोक वर्मा और राकेश अस्थाना की लड़ाई को भी गुटबाजी या निजी हित की लड़ाई माना परंतु अब एक और खुलासा हुआ है। सीबीआई में DIG रैंक के अफसर मनीष कुमार सिन्हा ने सुप्रीम कोर्ट में आवेदन देकर खुलासा किया है कि अजित डोभाल ने उन्हे छापा मारने से रोका और एक केंद्रीय मंत्री ने करोड़ों की रिश्वत ली है। बता दें कि श्री अजीत डोभाल को पीएम श्री नरेंद्र मोदी का सबसे विश्वासपात्र माना जाता है। 

सिन्हा मीट कारोबारी मोइन कुरैशी केस में अस्थाना पर 2.95 करोड़ घूस लेने के आरोपों की जांच कर रहे थे। सिन्हा का आरोप है कि इस जांच में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजित डोभाल ने दो मौकों पर तलाशी अभियान रोकने के निर्देश दिए थे। अस्थाना की शिकायत करने वाले हैदराबाद निवासी सतीश बाबू सना ने उन्हें यह भी बताया था कि गुजरात से सांसद और मौजूदा कोयला व खनन राज्यमंत्री हरिभाई पार्थीभाई चौधरी को भी कुछ करोड़ रिश्वत दी गई थी। सिन्हा ने केंद्रीय सतर्कता आयुक्त (CVC) पर भी दखल के आरोप लगाए। 

सिन्हा का आरोप है कि जांच में राकेश अस्थाना को मदद पहुंचाने के लिए ही उन्हें नागपुर भेजा गया। उनके वकील ने सुप्रीम कोर्ट से कहा कि ऐसे सबूत हैं, जो चौंका देंगे। लेकिन कोर्ट ने कहा कि अब हमें कुछ नहीं चौंकाता। कोर्ट ने अर्जी पर तुरंत सुनवाई से इनकार किया, लेकिन कहा कि याची मंगलवार को सीबीआई चीफ की सुनवाई के दौरान मौजूद रहे। 

जांच में NSA पर दो बार दखल का आरोप, सफाई का इंतजार 

17 अक्टूबर को अस्थाना के खिलाफ घूस के आरोपों में FIR की बात जब NSA को पता चली, तो उसी रात उन्होंने अस्थाना से बात की। अस्थाना ने NSA से गिरफ्तारी से बचाने को कहा था। 

20 अक्टूबर को जब अस्थाना खेमे के डिप्टी एसपी देवेंद्र कुमार के ठिकानों पर तलाशी ली गई, तो सीबीआई चीफ का फोन आया और NSA के निर्देश पर जांच रोकने को कहा गया था। 

ये भी हैं आरोप 

मौजूदा कोयला-खनन राज्यमंत्री हरिभाई पार्थीभाई चौधरी को भी कुछ करोड़ रिश्वत दी गई थी। उनके दफ्तर ने ऐसे किसी केस में शामिल होने से इनकार किया है। 

CVC के. वी. चौधरी पर भी जांच में दखल का आरोप लगाया, लेकिन उन्होंने आरोप पर अब तक कोई सफाई नहीं दी है। 

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->