Advertisement

BJP- 1996 में सरदार को दुश्मन समझती थी, 2018 में प्रतिमा लगा रही है: वाघेला



अहमदाबाद। जिन सरदार वल्लभ भाई पटेल का भाजपा इन दिनों गुणगान कर रही है एक समय ऐसा भी था जब यही भाजपा सरदार पटेल का भारी विरोध किया करती थी। आज सरदार पटेल की सबसे बड़ी प्रतिमा लगाई गई है लेकिन एक वक्त ऐसा भी था जब भाजपा एयरपोर्ट का नाम भी सरदार पटेल के नाम पर रखने को तैयार नहीं थी।  

गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री शंकर सिंह वाघेला ने बताया कि उस समय मैं गुजरात का मुख्यमंत्री था। तब मैंने अहमदाबाद एयरपोर्ट का नाम सरदार वल्लभ भाई पटेल के नाम पर करने की सिफारिश केंद्र सरकार से की। तब भाजपा के नेताओं ने इसका कड़ा विरोध किया था। तत्कालीन प्रधानमंत्री एच.डी. देवगौड़ा एयरपोर्ट के नामकरण के लिए जब अहमदाबाद आए, तो एक सांसद के रूप में आनंदी बेन पटेल ने उन्हें काला झंडा दिखाया था। वे भी एयरपोर्ट का नाम सरदार पटेल के नाम पर करने का विरोध कर रहीं थीं।

1996 में काले झंडे दिखाए थे, अब सरदार की मार्केटिंग कर रहे हैं

सरदार पटेल की 182 मीटर ऊंची प्रतिमा का अनावरण कर पीएम मोदी खुद को यह साबित करने में लगे हैं कि वे ही सरदार के पक्के भक्त हैं। भाजपा की हवा निकालते हुए वाघेला ने ट्वीट किया है कि 6 दिसम्बर 1996 का दस्तावेज में यह जिक्र है कि उस दिन मध्यप्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने एक सांसद के रूप में प्रधानमंत्री एच. डी. देवगौड़ा के अहमदाबाद आगमन पर उन्हें काले झंडे दिखाए थे। इससे उन्होंने सरदार पटेल के खिलाफ अपना विरोध दर्ज किया था। आज मोदी सच्चे सरदार भक्त बनकर मार्केटिंग कर रहे हैं।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com