ये 6 उम्मीदवार भाजपा और कांग्रेस के लिए परेशानी बन सकते हैं | MP NEWS

09 November 2018

भोपाल। इस बार मध्यप्रदेश में चुनाव काफी गहमा गहमी भरा होगा। भाजपा और कांग्रेस के कई नेता बागी होकर चुनाव लड़ रहे हैं। कुछ दूसरे दलों के टिकट पर लड़ रहे हैं। फिलहाल 6 नाम ऐसे सामने आ रहे हैं जो भाजपा और कांग्रेस के उम्मीदवारों के लिए परेशानी बन सकते हैं। 

नितिन चतुर्वेदी : बुंदेलखंड अंचल से कांग्रेस के बड़े नेताओं में शुमार सत्यव्रत चतुर्वेदी के बेटे नितिन चतुर्वेदी राजनगर से सपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं। ऐसे में ब्राह्मण वोटों के बंटवारे की संभावना बढ़ गई है। सीट पर अरविंद पटेरिया भाजपा के तो विक्रम सिंह नातीराजा कांग्रेस प्रत्याशी हैं। 

आलोक अग्रवाल : आप के प्रदेशाध्यक्ष आलोक अग्रवाल सामाजिक कार्यकता मेधा पाटकर के साथ नर्मदा बचाओ आंदोलन से जुड़े रहे हैं। वे भोपाल की दक्षिण-पश्चिम सीट से मैदान में हैं। इस सीट पर पीसी शर्मा कांग्रेस और उमाशंकर गुप्ता भाजपा प्रत्याशी हैं। अग्रवाल इस क्षेत्र में काफी समय से सक्रिय हैं। 

परिणिता राजे : परिणिता कांग्रेस का दामन छोड़ आप में शामिल हुई थीं। वे सेवढ़ा से प्रत्याशी हैं। इसी तरह चित्रकूट से राजवंश सिंह आप के प्रत्याशी हैं। उनके पिता दो बार सांसद रह चुके हैं। गुढ़ से कांग्रेस छोड़कर आए बालेंदु शुक्ला भी चुनाव लड़ रहे हैं। आप पदाधिकारियों का मानना है कि अन्य पार्टियों से आप में आए प्रत्याशी उनके परंपरागत वोट बैंक पर असर डालेंगे। 

रमेश खटीक : भाजपा के पूर्व विधायक रमेश खटीक को सपाक्स ने करैरा से टिकट दिया है। लंबे समय से क्षेत्र में सक्रिय खटीक इस बार सपाक्स के जरिए ही भाजपा को टक्कर देंगे। 

डॉ. केएल साहू : भोपाल की दक्षिण पश्चिम सीट से सपाक्स के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं। डॉ. साहू स्वास्थ्य विभाग में संचालक रहे हैं। वे काफी समय से सपाक्स में सक्रिय हैं। इधर, नरेला विधानसभा क्षेत्र से सपाक्स ने रिटा. कर्नल केसरी सिंह को मैदान में उतारा है। 

अनुमा आचार्य : रिटा. विंग कमांडर अनुमा आचार्य विदिशा से आप के टिकट पर चुनाव लड़ रही हैं। हाल में उन्होंने फेसबुक पर लिखा था कि मैं 35 लाख रुपए सालाना की नौकरी छोड़कर आई हूं। 

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week