LOKSABHA CHUNAV HINDI NEWS यहां सर्च करें





भोपाल में #Metoo 8 छात्राओं ने एक शिक्षक पर लगाए आरोप

31 October 2018

भोपाल। राजधानी के गोविंदपुरा स्थित शासकीय मॉडल औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आईटीआई) की इलेक्ट्रिशियन विभाग की छात्राओं ने एक शिक्षक के खिलाफ मी टू के तहत छेड़छाड़ के आरोप लगाए हैं। इसके बाद भोपाल पुलिस हरकत में आ गई है। भोपाल डीआईजी ने शिक्षक के खिलाफ जांच कर एफआईआर के निर्देश दिए हैं। यह मामला दो साल से चल रहा है। गोविंदपुरा आईटीआई में पदस्थ शिक्षक जेसी के खिलाफ आठ छात्राएं जगह-जगह यौन उत्पीड़न की शिकायत कर थक चुकी थी, लेकिन कहीं से कोई कार्यवाही नहीं हो रही थी।

दो साल पहले इलेक्ट्रिशयन विभाग में अलग-अलग जिलों की आठ छात्राओं ने एडमिशन लिया था। विभाग में पदस्थ शिक्षक जेसी सोनी प्रैक्टिकल के बहाने छात्राओं से छेड़छाड़ करते थे। छात्राओं ने इसकी शिकायत संस्थान के डायरेक्टर और प्रिंसिपल से की, लेकिन शिक्षक के खिलाफ कोई एक्शन नहीं लिया गया। इसके बाद छात्राओं ने तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विकास राज्य मंत्री दीपक जोशी से भी शिकायत की, लेकिन उन्होंने भी नहीं सुनी।

कहीं से कोई भी एक्शन न होता देख, शिक्षक मनमानी बढ़ने लगी और वह छात्राओं को और भी परेशान करने लगा। छात्राएं लगातार दो साल तक प्रताड़ित होती रही। जब उनका कोर्स खत्म हुआ। इसके बाद उन्होंने पिछले माह सितंबर में राज्य महिला आयोग में शिकायत की। आयोग ने इस मामले में संज्ञान भी लिया और एसपी से कार्यवाही करने की अनुंशसा भी की थी। लेकिन पुलिस ने एक नहीं सुनी। अब छात्राओं ने शिक्षक के खिलाफ मी टू अभियान शुरू किया है।

राहुल लोढ़ा, एसपी का कहना है कि पीड़िता की पहचान हो गई है। पुलिस को छात्रा के पास भेजा गया है, अशोका गार्डन थाने में छात्रा की शिकायत पर एफआईआर दर्ज की तैयारी की जा रही है।

कहीं से कोई एक्शन नहीं लिया
पीड़ित छात्राओं ने बताया कि दो साल से हर जगह शिकायत की, लेकिन शिक्षक के खिलाफ कोई एक्शन नहीं लिया गया। अब सोशल मीडिया को जरिया बनाया तो कार्यवाही की उम्मीद है। इस मामले को संस्थान में दबा दिया जाता था।

बेंच में रखा गया था मामला
महिला आयोग में छात्राओं ने 27 सितंबर को शिकायती आवेदन दिया था। जिसमें लिखा था कि शिक्षक जेसी सोनी ने छात्राओं के साथ छेड़छाड़ करने और अपशब्द बोलते हैं। शिक्षक के खिलाफ संस्था के प्राचार्य, डायरेक्टर एवं मंत्री से शिकायत की थी, लेकिन कोई एक्शन नहीं हुआ। आयोग से न्याय की आस है। इस मामले को 5 अक्टूबर की बेंच में रखा गया था, लेकिन आयोग द्वारा पुलिस की अनुशंसा के बाद भी कोई कार्यवाही नहीं हुई।

इनका कहना है
आईटीआई गोंविदपुरा की 8 छात्राओं ने मी टू अभियान के तहत शिक्षक के खिलाफ शिकायत मिली है। इसमें एएसपी को निर्देश दिया कि जांच कर तत्काल कार्यवाही करें।
-धर्मेन्द्र चौधरी, डीआईजी



-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Suggested News

Loading...

Advertisement

Popular News This Week

 
-->