Loading...

सरकार प्रदेश के 6000 अतिथि विद्वानों के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है। HMKP | EMPLOYEE NEWS

छिंदवाड़ा। मध्य प्रदेश मे महविद्यालयों मे कार्यरत 6000 अतिथि विद्वानों को जुलाई माह से वेतन का भुगतान नहीं किया गया है। इस आशय की जानकारी देते हुए हिन्द मज़दूर किसान पंचायत मध्य प्रदेश के महासचिव डी.के.प्रजापति ने कहा की मध्य प्रदेश सरकार प्रदेश के 6000 अतिथि विद्वानों के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है। एक तरफ जहां उच्च शिक्षा विभाग नियमित प्राध्यपको को वेतन का नियमित रूप से भुगतान कर रहा है वहीं अतिथि विद्वानों के सम्बन्ध मे बजट का आभाव बताकर जुलाई माह से वेतन का भुगतान नहीं कर रहा है। 

इस सम्बन्ध मे हिन्द मज़दूर किसान पंचायत ने प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा, मुख्य सचिव मध्य प्रदेश भोपाल, संचालक उच्च शिक्षा मध्य प्रदेश भोपाल एवं अतिरिक्त संचालक उच्च शिक्षा जबलपुर को पत्र प्रेषित करते हुए अतिथि विद्वानो के जुलाई माह से लंबित वेतन का भुगतान शीघ्र करने की मांग की हे डी.के.प्रजापति ने कहा की मध्य प्रदेश के विभिन्न महविद्यालयो मे कार्यरत अतिथि विद्वानो को जुलाई माह से वेतन का भुगतान नहीं किया गया हे जबकि अतिथि विद्वानो द्वारा पूरी निष्ठां से अपने कर्तव्य का निर्वहन किया जाकर नियमित रूप से अध्यापन कार्य संपन्न किया जा रहा है साथ ही समस्त महाविद्यालयों के प्रशासनिक कार्यो (शैक्षणिक एवं अशैक्षणिक )कार्यो को भी लगातार किया जा रहा हे विधान सभा चुनावो के तारतम्य मे नियमित प्राध्यापकों की चुनाव सम्बन्धी ड्यूटी को देखते हुए समस्त आवश्यक कार्यो की जिम्मेवारी भी इन्ही अतिथि विद्वानों के ऊपर ही हैं। 

वे सभी कार्य भी अथिति विद्वान् ही कर रहे हे चूँकि कुछ ही दिनों मे दीपावली और अन्य पर्व आ रहे हे ऐसे मे अतिथि विद्वानो को वेतन का भुगतान तत्काल सुनिश्चित करना उच्च शिक्षा विभाग का दायित्व हे जुलाई माह से वेतन का भुगतान नहीं होने से आर्थिक संकट उत्पन्न हो गया हे हिन्द मज़दूर किसान पंचायत ने दीपावली पर्व के पूर्व अतिथि विद्वानो का जुलाई माह से लंबित  भुगतान शीघ्र करने की मांग की है।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com