Loading...

शिवराज पथराव: भाजपा के सभी आरोप झूठे, कलेक्टर रिपोर्ट में क्लीनचिट | MP NEWS

भोपाल। सीधी जिले के चुरहट में सीएम शिवराज सिंह की बस पर हुए पथराव मामले में बड़ा बवाल हुआ था। मप्र के गृहमंत्री भूपेन्द्र सिंह ने इसे मुख्यमंत्री की हत्या की साजिश बताया था। खुद सीएम शिवराज सिंह ने कहा था कि कांग्रेस मेरे खून की प्यासी हो गई है। भाजपा ने पूरे प्रदेश में प्रदर्शन करके राज्यपाल के नाम सौंपे ज्ञापन में दावा किया था कि इस घटना के साजिशकर्ता नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह हैं और उनके खिलाफ आपराधिक साजिश रचने का मामला दर्ज किया जाए परंतु सीधी कलेक्टर की रिपोर्ट उपरोक्त सभी बातों को झुठला रही है। कलेक्टर की रिपोर्ट में ना तो अजय सिंह पर कोई आरोप है और ना ही किसी अन्य कांग्रेसी नेता पर। 

सीधी कलेक्टर दिलीप कुमार की रिपोर्ट में कहा गया है कि जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान पटपरा के पास किन्हीं अज्ञात लोगों ने सीएम के रथ पर पत्थर फेंका था। कलेक्टर की रिपोर्ट के मुताबिक गांव पटपरा के पास अज्ञात लोगों ने सीएम के रथ को काले झंडे दिखाने और पर पत्थर फेंके। कलेक्टर ने अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज करने का हवाला दिया। इस पूरी रिपोर्ट में कहीं भी नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह का नाम नहीं है। रिपोर्ट में ऐसे 22 व्यक्तियों के खिलाफ प्रतिबंधात्मक कार्यवाही कर गिरफ्तारी की जानकारी दी गई है।

प्रदर्शनकारी भाजपा की पट्टी लगाए थे, काले कपड़े में लपेटकर फैंके गए थे पत्थर
कलेक्टर ने अपनी रिपोर्ट में सीधी में पूजा पार्क में सभा स्थल के बाहर भाजपा की पट्टी लगाए व्यक्तियों ने CM के खिलाफ नारे लगाने और काला झंडा दिखाने का ज़िक्र किया है। उस मामले में 3 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया। इससे पहले सीधी के एसपी ने एक बयान में बताया था कि हमलावरों ने काले कपड़े में लपेटकर पत्थरों का फैंका था। यानि ये पत्थर सीएम शिवराज सिंह को चोटिल करने के लिए नहीं फैंके गए थे बल्कि काला झंडा शिवराज सिंह के पास तक पहुंचाने के लिए उसमें पत्थर लपेटकर फैंके गए थे। 
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com