घाटे में MODI सरकार, कई चीजों पर TAX डबल किए | NATIONAL NEWS

27 September 2018

नई दिल्ली। भले ही वित्तमंत्री अरुण जेटली ने बयान दे दिया हो कि 'रुपए की कीमत नहीं गिरी बल्कि डॉलर महंगा हो गया है' लेकिन डॉलर के बढ़ते दाम ने सरकार की नींद उड़ा दी है। दरअसल, सरकार लगातार घाटे में जा रही है। 'मेक इन ​इंडिया' के बाद देश में निर्यात घटा है और आयात बढ़ा है। अब इस घाटे को रिकवर करने के लिए सरकार ने 19 चीजों पर टैक्स रिवाइज किए हैं। इनमें से कई चीजों पर टैक्स डबल कर दिए हैं। एविएशन टर्बाइन फ्यूल पर पहली बार टैक्स लगाया गया है। राजस्व विभाग के नोटिफिकेशन के मुताबिक, बुधवार आधी रात से ही यह फैसला लागू हो जाएगा। जिन 19 आइटम्स पर कस्टम ड्यूटी घटाई गई है, 2017-18 में उनका 86 हजार करोड़ रुपए का आयात हुआ था।

मोदी ने दिए थे चालू खाता घाटा कम करने के निर्देश
रुपए की गिरती कीमत और तेजी से बाहर जाती विदेशी करंसी के मद्देनजर पिछले हफ्ते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उच्चस्तरीय बैठक बुलाई थी। इसमें मोदी ने चालू खाता घाटा कम करने के लिए गैर-जरूरी चीजों को आयात कम करने को कहा था। एयर कंडीशनर, घरेलू रेफ्रिजरेटर और वॉशिंग मशीन का आयात शुल्क 10 से 20% किया जा चुका है।

उत्पाद, पहले क्या था, अब कितना टैक्स लेगी सरकार
एयर कंडीशनर पहले 10% अब 20%
रेफ्रिजरेटर पहले 10% अब 20%
वॉशिंग मशीन (10 किलोग्राम से कम) पहले 10% अब 20%
एयर कंडीशनर और रेफ्रिजरेट के कम्प्रेसर पहले 7.5% अब 10%
स्पीकर पहले 10% अब 15%
फुटवेयर पहले 20% अब 25%
कार टायर पहले 10% अब 15%
नॉन इंडस्ट्रियल डायमंड, कट और पॉलिश्ड डायमंड पहले 5% अब 7.5%
हाफ कट, टूटे हुए डायमंड, सेमी प्रोसेस्ड पहले 5% अब 7.5%
लैब ग्रोन डायमंड पहले 5% अब 7.5%
ज्वेलरी, ज्वेलरी के हिस्से पहले 15% अब 20%
सोने-चांदी की वस्तुएं पहले 15% अब 20%
प्लास्टिक के बाथ, शावर बाथ, सिंक, वॉश बेसिन इत्यादि पहले 10% अब 15%
प्लास्टिक के कंटेनर, बॉक्स, बोतलें पहले 10% अब 15%
प्लास्टिक का किचन का और घरेलू सामान पहले 10% अब 15%
प्लास्टिक की चूड़ियां, मनके, दफ्तर की प्लास्टिक स्टेशनरी, मूर्तियां, फर्नीचर की फिटिंग, सजावटी सामान पहले 10% पहले 15%
बक्से, सूटकेस, एग्जीक्यूटिव केस, ब्रीफकेस, ट्रैवल बैग और दूसरे बैग पहले 10% अब 15
एविएशन टर्बाइन फ्यूल पहले 0 अब 5%
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->