मंत्री नरोत्तम मिश्रा के नाम पर 13 लोगों से ठगी | BHOPAL MP NEWS

24 September 2018

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में शिवराज सिह कैबिनेट के कद्दावर मंत्री नरोत्तम मिश्रा के नाम पर 13 लोगों से ठगी का मामला सामने आया है आरोपी का नाम राजेश शर्मा निवासी भिंड बताया गया है। पीड़ित ने बताया कि ठग धड़ल्ले से मंत्री के बंगले में घुस जाता था। मौजूद स्टाफ से बात करता था। वो अक्सर उस समय जाता था जब नरोत्तम मिश्रा बंगले पर नहीं होते थे, यानि उसे पता होता था कि मंत्री कब भोपाल में अपने आवास पर नहीं हैं। शिकायत के बाद टीटी नगर पुलिस ने आरोपी को फर्जी आई कार्ड के साथ गिरफ्तार कर लिया है।

पहले बीएड में एडमिशन के नाम पर 60 हजार ठग लिए

न्यू राजीव नगर सेमरा कलां अशोका गार्डन निवासी 40 वर्षीय संजय कुमार शर्मा पिता सत्यनारायण शर्मा अपने अंकल की मेडिकल शॉप चलाते हैं। उन्होंने बताया कि चार महीने पहले उनकी शॉप पर भिंड निवासी राजेश शर्मा आया। उसने दवाई लेने के बहाने दोस्ती की। उसने बताया कि वह ग्वालियर के आरएनएस कॉलेज में बड़े पद पर है। वह मंत्री नरोत्तम मिश्रा का बहुत करीबी है। वह कॉलेज में सीधे किसी भी विषय में दाखिला दिला सकता है। उसकी बातों में आकर उन्होंने अपना और अपनी बहन का बीएड में एडमिशन कराने के लिए उसे 60 हजार 500 रुपए दिए। 

फिर पीएम आवास के नाम पर 13 लोगों से 5 लाख ठगे

इसके बाद उसने कहा कि उसके पास प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत कुछ मकान हैं। यह मकान गरीबी रेखा में आने वालों के लिए हैं। संजय ने उसकी बातों में आकर कहा कि उसे भी मकान दिलवा दो। इसके बाद संजय समेत 13 लोगों से उसने कुल 5 लाख रुपए मकान दिलाने के नाम पर ले लिए। पहले उसने 20 अगस्त को मकान देने का वायदा किया था, लेकिन बाद में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की मौत का बहाना बनाकर इसे एक महीने बढ़ा दिया। इसके बाद वह टाल-मटोल करने लगा।

जिस होटल में ठहरा उसका पेमेंट भी नहीं किया

संजय ने बताया कि दाखिला नहीं मिलने के कारण मैंने उससे कॉलेज के नाम पर दिए रुपयों की रसीद मांगी। उसने हमारे सामने कंप्यूटर से कॉलेज की साइट ओपन कर उससे एक रसीद निकालकर दे दी। इस पर दिए नंबर पर फोन किया, तो पता चला कि यह तो किसी महिला का नंबर है। उसने कॉलेज से किसी भी तरह का संबंध होने से मना कर दिया। आरोपी मालवीय नगर में एक होटल में लोगों को मिलने के लिए बुलाता था। उसका कहना था कि होटल के मालिक के बेटे ने उसके यहां से फॉर्मेसी कोर्स किया था, लेकिन फीस नहीं भरी थी। इसलिए वह यहां पर ठहरता है। उसने होटल में भी पेमेंट नहीं किया।

बेधड़क बंगले में घुसा, पूरा बंगला घुमाया

संजय ने बताया कि राजेश हमें विश्वास में लेने के लिए चार इमली स्थित मंत्री मिश्रा के बंगले पर ले गया। गार्ड ने जब उससे पूछा कि कहां जा रहे हो, तो उसने उसे डांट दिया। इसके बाद अंदर कमरे में जाकर कंप्यूटर ऑपरेटर से मंत्री के बारे में पूछा। उसने बताया कि मंत्री जी नहीं है। उसके बाद उसने कहा कि चलाे बताता हूं कि बंगले में कहां क्या है। हमें पूरा बंगला घुमाया। ऐसा उसने दो बार किया, लेकिन दोनों बार ही मंत्री जी बंगले पर नहीं थे। हम लोगों को वह साकेत नगर में एम्स से कुछ दूरी पर लेकर गया। यहां पर निर्माणाधीन मकान दिखाए। वह देख हमें उसकी बातों पर विश्वास हो गया था।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->