Loading...

TMC: शाह 48 घंटे में माफी मांगे वरना कानूनी कार्रवाई करेंगे | POLITICAL NEWS

शनिवार को कोलकाता में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की रैली के बाद टीएमसी ने उन पर पलटवार किया है और माफी मांगने के लिए 48 घंटे का अल्टीमेटम दिया है. बीजेपी अध्यक्ष पर बंगाल का अपमान करने का आरोप लगाते हुए टीएमसी ने चेतावनी दी कि अगर वो 48 घंटे के भीतर माफी नहीं मांगते हैं, तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी. इससे पहले पश्चिम बंगाल की सत्तारूढ़ टीएमसी ने कोलकाता में अमित शाह की रैली को फ्लॉप शो करा दिया था. पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी (BJP) और तृणमूल कांग्रेस (TMC) के बीच सियासी घमासान शुरू हो गया है.

टीएमसी के प्रवक्ता और सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने कहा, 'हमारा एक स्वस्थ कल्चर है. अमित शाह ने इसका भी अपमान किया है. उन्होंने झूठ बोला और फेक फैक्ट रखकर बंगाल का अपमान किया. अगर वो इसके लिए 48 घंटे के अंदर माफी नहीं मांगते हैं, तो हम उऩके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे.'

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पर पलटवार करते हुए डेरेक ओ ब्रायन ने कहा, 'उनकी गुजरात की लूट और डकैती की राजनीति यहां सफल नहीं होगी. अगर वो माफी नहीं मांगते हैं, तो हम उनके खिलाफ कानूनी और सभी तरह की कार्रवाई करेंगे. अमित शाह को तृणमूल कांग्रेस पर टिप्पणी करने से पहले अपने रिकॉर्ड को देखना चाहिए.'

उन्होंने कहा, 'हमारे पास उनके भाषण की 28 मिनट की पूरी रिकॉर्डिंग है. हम उनको माफी मांगने के लिए कुछ समय दे रहे हैं. उन्होंने ममता बनर्जी के खिलाफ भ्रष्टाचार को लेकर झूठ बोला है.' टीएमसी प्रवक्ता ने शाह से कहा कि वो ममता बनर्जी पर कीचड़ न उछालें.

बता दें कि शनिवार को बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने मिशन 2019 के मद्देनजर पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में रैली की थी. यहां उन्होंने कहा था कि पश्चिम बंगाल में ममता सरकार जब से आई है,  तब से चारों ओर भ्रष्टाचार देखने को मिल रहा है. कानून व्यवस्था की धज्जियां उड़ रही हैं. कारखाने बंद हो रहे हैं. बम बनाने के कारखाने खुल रहे हैं और अपराध के सारे रिकॉर्ड टूट गए हैं. शाह ने कहा था कि बीजेपी की सरकार आई तो ईमानदार, सख्त कानून व्यवस्था वाली और पश्चिम बंगाल को पुरानी सांस्कृतिक पहचान दिलाने का काम होगा.

टीएमसी द्वारा उठाए गए NRC के मुद्दे पर डेरेक ओ ब्रायन ने कहा, 'यह मुद्दा भारतीय नागरिकों को बचाने का है. एनआरसी पर हमारा स्टैंड साफ है. यह मसला पंजाब, बिहार, गोरखा, आदिवासी और प्रत्येक का है. बंगाल में कम्युनल पॉलिटिक्ट काम नहीं करेगी. यह हमारी परंपरा है और हम स्वस्थ व खुश राज्य हैं. आपसी सौहार्द बंगाल का कल्चर है.'

मालूम हो कि शनिवार को कोलकाता में रैली को संबोधित करते हुए अमित शाह ने एनआरसी के मुद्दे पर सत्ताधारी टीएमसी और कांग्रेस की जमकर आलोचना की थी. साथ ही बांग्लादेशी घुसपैठियों को बाहर करने का दावा भी किया था. इस दौरान अमित शाह ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर करारा हमला बोला था. उन्होंने बनर्जी पर वोट बैंक के लिए बांग्लादेशी घुसपैठियों का समर्थन करने का आरोप लगाया था. साथ ही उन्होंने ये भी कहा था कि ममता बनर्जी वोट बैंक के लिए एनआरसी का विरोध कर रही हैं.