Loading...

PSC EXAM मुशकिल में सारे प्रोफेसरों धरने पर

BHOPAL: सातवें वेतनमान की मांग लेकर सरकारी कॉलेजों के लगभग सभी प्रोफेसरों ने 23 जुलाई को सामूहिक अवकाश का ऐलान किया है। इससे राज्यसेवा मुख्य परीक्षा-2018 पर संकट गहराता दिख रहा है। पीएससी मुख्य परीक्षा का दौर 23 जुलाई से ही शुरू होगा। इसी दिन छुट्टी लेकर सभी प्रोफेसर भोपाल पहुंचकर सचिवालय का घेराव करेंगे। शासकीय कॉलेज प्राध्यापक संघ के मुताबिक प्रदेश के साढ़े चार हजार प्रोफेसर इसमें शामिल होंगे। इससे पहले बुधवार को संभाग मुख्यालयों पर कमिश्नर को ज्ञापन देंगे।

प्राध्यापक संघ के राज्य सचिव डॉ. सुरेश टी सिलावट के मुताबिक प्रोफेसर को लेकर सरकार का पक्षपातपूर्ण रवैया है। प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों के प्रोफेसर भी हमारे साथ हैं। इधर, पीएससी की राज्यसेवा परीक्षा के प्रदेशभर के संभाग मुख्यालयों पर सरकारी कॉलेजों को केंद्र बनाया गया है।

इस लिखित परीक्षा में परीक्षक से केंद्राध्यक्ष तक के रूप में सरकारी कॉलेज के प्रोफेसरों को ही ड्यूटी करना है। पीएससी अधिकारियों का कहना है कि अब तक उन्हें सामूहिक अवकाश को लेकर कोई लिखित सूचना या केंद्रों से जानकारी नहीं मिली है।