MPPSC मेंस EXAM के लिए 365 अभ्यर्थियों की उम्मीदवारी निरस्त

23 July 2018

INDORE: MPPSC द्वारा ली जाने वाली राज्य सेवा मुख्य परीक्षा-2018 आज से शुरू हो चुकी है। इसके लिए प्रदेश के चार संभागीय मुख्यालयों इंदौर, भोपाल, जबलपुर और ग्वालियर पर 13 केंद्र बनाए गए हैं। इनमें इंदौर में छह, भोपाल में तीन, जबकि जबलपुर और ग्वालियर में दो-दो केंद्र हैं। सबसे ज्यादा 2659 परीक्षार्थी इंदौर के केंद्रों पर परीक्षा देंगे। शनिवार को अभ्यर्थियों की सूची में 5125 उम्मीदवारों के नाम थे। परीक्षा से एक दिन पहले पीएससी ने 365 अभ्यर्थियों की उम्मीदवारी निरस्त करते हुए उनके रोल नंबर हटा दिए हैं।  298 पदों के लिए होने वाली मुख्य परीक्षा में 4700 से ज्यादा अभ्यर्थी शामिल हो रहे हैं। शुक्रवार शाम को मप्र उच्च न्यायालय जबलुपर के साथ उच्च न्यायालय की इंदौर व ग्वालियर खंडपीठ से परीक्षा से जुड़ी कई याचिकाओं पर अंतिम निर्णय दिया गया। इसके बाद परीक्षार्थियों की लिस्ट अपडेट करते हुए पीएससी ने 365 अभ्यर्थियों के नाम व रोल नंबर लिस्ट से हटा दिए। इस बारे में रविवार को संबंधित परीक्षा केंद्रों पर भी सूचना भेज दी गई थी। परीक्षा 28 जुलाई तक जारी रहेगी।

रिजल्ट को दी थी चुनौती

हटाए गए उम्मीदवार प्रारंभिक परीक्षा का रिजल्ट घोषित होने के बाद नतीजे से असंतुष्ट होकर हाई कोर्ट चले गए थे। उन्होंने पीएससी की आंसर शीट, सही घोषित जवाब और डिलीट किए गए प्रश्नों के आधार पर रिजल्ट को चुनौती दी थी। याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए हाई कोर्ट ने सभी उम्मीदवारों को अंतरिम राहत देते हुए पीएससी को इन्हें मुख्य परीक्षा में शामिल करने का आदेश दिया था। हालांकि ऐसे सभी उम्मीदवारों की उम्मीदवारी व अंतिम परिणाम याचिका के अंतिम निर्णय पर निर्भर था। दो-तीन दिनों में इन तमाम याचिकाओं पर कोर्ट ने अंतिम फैसला देते हुए याचिकाओं को खारिज कर दिया।

विशेष कंट्रोल रूम बनाया

पीएससी ने सभी परीक्षा केंद्रों को निर्देशित किया है कि हटाया गया कोई भी उम्मीदवार सोमवार सुबह परीक्षा में शामिल होने के लिए जबरदस्ती करे तो तुरंत आयोग के कंट्रोल रूम पर सूचना दें। ऐसे उम्मीदवारों पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। परीक्षा के दौरान पीएससी मुख्यालय पर विशेष कंट्रोल रूम बनाया गया है।

छह पर्चों से होगा अगले दौर में चयन

पीएससी मुख्य परीक्षा में कुल छह पेपर होंगे। इनमें चार प्रश्नपत्र सामान्य अध्ययन से होंगे। चारों प्रश्नपत्र 300-300 अंकों के होंगे। पांचवें पर्चा हिंदी भाषा का होगा। यह 200 अंकों का होगा। आखिरी प्रश्नपत्र निबंध लेखन का होगा। सभी प्रश्नपत्रों के 1400 अंकों में से प्राप्तांक के आधार पर मेरिट सूची बनेगी। मेरिट के आधार पर पदों के मुकाबले तीन गुना उम्मीदवारों का चयन अगले और अंतिम दौर इंटरव्यू के लिए होगा। इंटरव्यू 175 अंकों का होगा। लिखित परीक्षा और इंटरव्यू के कुल 1575 अंकों के आधार पर अंतिम मेरिट और चयन सूची तैयार की जाएगी।

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week