अबोध छात्रा द्वारा सुसाइड के बाद सड़कों पर उतरे लोग | MP NEWS

06 July 2018

इंदौर।  एक लड़के की खुलेआम छेड़छाड़ और पुलिस द्वारा कार्रवाई ना करने से निराश होकर 10वीं की छात्रा ने सुसाइड कर लिया था। आज इलाके की महिलाओं ने चक्काजाम कर डाला। सामने आई पुलिस टीम को काफी खरीखोटी सुनाई। पूरा इलाक सड़कों पर था। विरोध करने वालों में महिलाओं के अलावा बच्चे भी थे। इधर डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्र ने बताया कि चारों लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। मामले में लापरवाही बरतने वाले द्वारिकापुरी थाने के सब इंस्पेक्टर ओंकार सिंह कुशवाहा और एक हेड कांस्टेबल को निलंबित कर दिया गया है। मामले की जांच की जा रही है।

भड़की महिलाएं, पूरे थाने को सस्पेंड करने की मांग
छेड़छाड़ और ब्लैकमेलिंग से तंग आकर फांसी लगाने वाली छात्रा को न्याय दिलाने परिजन और क्षेत्रवासी इंदौर की सड़कों पर उतर आए। आक्रोशित लोगो की मांग है कि लापरवाही बरतने वाले पूरे द्वारिकापुरी थाने को सस्पेंड किया जाए। प्रदर्शन में बड़ी संख्या में महिलाएं और बच्चे भी शामिल थे। सैकड़ों की संख्या में सड़क पर बैठे लोगों को हटाने पहुंची पुलिस को उनके विरोध का सामना करना पड़ा। प्रदर्शन करने पहुंची महिलाओं ने पुलिस को जमकर खरी-खोटी सुनाई। परिजनों ने कहा कि वो बेटी के साथ तीन दिन से पुलिस थाने के चक्कर लगा रहे थे लेकिन पुलिस ने सुनवाई नहीं की।

लड़के की मां ने कहा था पुलिस मेरी जेब में रहती है
महिलाओं ने बताया कि आरोपी की मां देह व्यापार करती है। वो खुलेआम धमकी देती है कि पुलिस मेरा कुछ नहीं बिगाड़ सकती वो मेरी जेब में रहती है। मेरी ऊपर तक जिससे जाकर शिकायत करनी है कर दो पुलिस को पूरी बात बताने के बाद भी उनकी कोई सुनवाई नहीं हुई ऊपर से उन्हें ही डांट कर भाग दिया गया। उन्होंने आरोप लगाया कि बेटी को यदि मरने के लिए मजबूर होना पड़ा तो इसकी वजह पुलिस है।

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...