जब शिक्षा विभाग है तो दूसरे संवर्ग की क्या जरूरत: शिक्षक संघ | MP NEWS

11 July 2018

नरसिंहपुर। मुख्यमंत्री की शिक्षकों और अध्यापकों के लिए की गई अधूरे वादों को पूरा करवाने प्रांतीय इकाई के आव्हान पर मध्य प्रदेश शिक्षक संघ ब्लॉक इकाई नरसिंहपुर, चावरपाठा, करेली, साईंखेड़ा, गोटेगांव, चीचलीऔर तहसील चांवरपाठा गाडरवारा के बैनर तले हज़ारों  शिक्षकों और अध्यापकों ने जुटकर प्रशासन को चेताने के लिए ब्लाकों में सांकेतिक  धरना और उत्कृष्ट विद्यालय से बस स्टैंड के मुख्य मार्ग से होते हुए जनपद पंचायत, तहसील परिसरों तक आक्रोश रैली निकाली जिसमें नारों के साथ आवाज बुलंद करते हुए शिक्षा विभाग के विभिन्न संवर्गीय कर्मचारियों ने मध्य प्रदेश सरकार से मांग की। 

जब शिक्षा विभाग एक ही है तो संपूर्ण विभाग में एक ही प्रकार के शिक्षकों को होना चाहिये और राज्य शिक्षा सेवा के नाम से अधीनस्थ दूसरा संवर्ग ना बनाया जाए। दोयम दर्ज़े के दूसरे संवर्ग को लेकर शिक्षक संघ  स्पष्ट रूप से नकारेगा। शिक्षकों का दर्द उस समय छलका जब ऊंची आवाज में उन्होंने बताया कि 35 36 साल सेवाएं देने के बाद भी आज भी जिस पद पर भर्ती हुए थे उसी पद पर काम कर रहे हैं इतने लंबे सेवाकाल में एक भी पदोन्नति ना देना शिक्षकों की गरिमा स्वाभिमान और आत्म सम्मान के विरुद्ध है सहायक शिक्षक और शिक्षक संवर्ग में सामूहिक पदनाम परिवर्तन की मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुरूप तत्काल आदेश जारी करने की बात रखी। इसके बाद जिला उपाध्यक्ष श्री भगवान उपाध्याय, जिला सचिव सत्यप्रकाश त्यागी के मार्गदर्शन में मुख्य कार्यपालन अधिकारी दुर्गेश कुमार भूमरकर को जनपद कार्यालय में जाकर मुख्यमंत्री के नाम 2 सूत्रीय मुख्य मांगों वाला ज्ञापन पत्र पढ़कर सौंपा। 

जिसमें सहायक शिक्षकों के पदनाम परिवर्तन और अध्यापकों के भेदभाव पूर्ण संविलियन के प्रस्ताव की बजाए एक ही चरण में संविलियन की मांग रखी गई ज्ञापन सोपते समय विकास खंड अध्यक्ष राजेश ठाकुर सचिव नरेंद्र दुबे जुुम्मन कुरेशी  ने शिक्षा विभाग की समस्याओं को हल करने दिए गए एक अन्य ज्ञापन में बताया कि स्थानीय अधिकारियों द्वारा शिक्षक संवर्गों की विभागीय सेवाकालीन कठिनाईयो के निदान और हितलाभों के लिए काम करने में उदासीनता बरती जा रही हैं। शिक्षकों और अध्यापको के 2 से 3 वर्षो से अटके कामों के लिए भी शिक्षक संघ को एड़ी चोटी का जोर लगाना पड़ रहा है जोकि विभागीय कार्यवाही के तहत 2वर्षो पूर्व ही हो जाने चाहिये थे। वरिष्ठता सूची का प्रकाशन ,2015 की क्रमोन्नति सूची में छोड़ दिये गए अध्यापको को बढे हुए वेतनमान का लाभ,सेवा पुस्तिकाओं ,पेंशन कटौती अभिलेख का संधारण,मंहगाई भत्ते और विभिन्न प्रकार के एरियर्स का तत्काल भुगतान अभी भी नहीं किया गया है। डीपीसी नरसिंहपुर द्वारा जनशिक्षक बीएसी की 3साल की प्रतिनियुक्ति अवधि पूरी हो जाने, अधिकांश पद खाली रहने के बाद भी राज्य शिक्षा केन्द्र के आदेश के बाबजूद भी नवीन प्रतिनियुक्ति प्रक्रिया पूरी नहीं की है।

कार्यकारिणी सदस्य नंदकिशोर शर्मा रामस्वरूप श्रीवास्तव तरवर साहू मनमोहन दुबे धनपत ठाकुर, गोठल पटेल ,राजेश सेन ,उदयराज यादव सुनील पटेल मुरारीलाल सोनी एमआई कुरैशी,परवेज अख्तर खान,संजीव अग्रवाल अभिलाषा अवधिया रंजना सिंह सरिता चौधरी, पारसमणि मरेले, रामवल्लभ तिवारी, अनीता धुर्वे, नारायण पटेल, दुर्गा ठाकुर, राजेश पटेल, गणेश मेहरा, हर्षिता सिंगौरे, राजकुमार श्रीवास्तव, शंकर पटेल, राजकुमार पटेल, लखनलाल बड़कुर कमलेश शर्मा सतीश रिछारिया इत्यादि बड़ी संख्या में आक्रोशित शिक्षकों अध्यापको की सहभागिता से ब्लॉक स्तरीय धरना प्रदर्शन संपन्न हुआ।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week

Revcontent

Popular Posts