कर्मचारी हड़ताल: दूसरे दिन भी सुने रहे सरकारी आॅफिस | MP EMPLOYEE NEWS

28 July 2018

भोपाल। मध्‍यप्रदेश तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ के आह्वान पर आज तृतीय वर्ग के ढेड लाख से भी ज्‍यादा कर्मचारियों ने आंदोलन के दूसरे दिवस सामूहिक अवकाश लेकर हड़ताल की। सागर, रीवा, इंदोर, जबलपुर, छिन्‍दवाडा, शाजापुर, सीहोर, विदिशा सहित प्रदेश के अधिकतर जिलों में संभाग, जिला ब्‍लाक एवं तहसील कार्यालयों में तृतीय वर्ग कर्मचारियों ने सामूहिक अवकाश लेकर शासकीय कार्य बंद रखा। सबसे ज्‍यादा असर विभागाध्‍यक्ष कार्यालय, आयुक्‍त कार्यालय, जिला कलेक्‍टर कार्यालय एवं तहसील कार्यालय में देखा गया जहा पर हडताल के कारण आम जनों के काम नही हुए और उन्‍हें दिक्‍कतों का सामना करना पडा। प्रदेश भर के आर.टी.ओ कायालय बन्‍द रहने के कारण लोगों के लायसेंस नही बने तथा गाडियों को फिटनेस भी नही मिली। 

सामूहिक अवकाश आंदोलन पूरी तरह से सफल: कर्मचारी संघ
संघ के प्रांत अध्‍यक्ष ओ.पी. कटियार एवं उपप्रांताध्‍यक्ष लक्ष्‍मीनारायण शर्मा ने बताया कि सामूहिक अवकाश आंदोलन पूर्ण रूप से सफल रहा और कर्मचारियों ने संघ के नेतृत्‍व में पूर्ण आस्‍था दिखलाई। नेताद्वय ने कहा कि आंदोलन की समीक्षा के लिये तथा आगामी आंदोलन के लिये संघ की केन्‍द्रीय प्रबंध समिति की बैठक आयोजित की जायेगी जिसमें संघ के 10 अगस्त को प्रदेश में जनप्रतिनिधियों को ज्ञापन सौंपे जाने एवं 31 अगस्‍त को जिला एवं राजधानी में धरना आंदोलन किये जाने की तैयारी को अंतिम रूप दिया जायेगा।

राजधानी में सरकारी आॅफिसों में काम ठप रहा
भोपाल जिला संघ के जिला शाखा अध्‍यक्ष एवं लिपिक वर्गीय कर्मचारी समिति के प्रांतीय संयोजक विजय रघुवंशी ने बताया कि आंदोलन के दूसरे दिन राजधानी में सतपुडा विंध्‍याचल डीपीआइ आरटीओ, निर्माण भवन, हथकरघा संचालनालय, मत्‍सय संचालनालय नर्बदा भवन मे हडताल का व्‍यापक असर देखा गया। आज चिकित्‍सा शिक्षा, वन एवं आर्थिक संचालनालय के कर्मचारियों ने भी आंदोलन में हिस्‍सा लिया। 4000 से अ‍धिक कर्मचारियों आज सामूहिक अवकाश पर रहे। कर्मचारियों के अवकाश पर रहने के कारण कार्यालयों में सन्‍नाटा पसरा रहा तथा काम के लिये आने वाले लोगों को परेशानियों का सामना करना पडा।

कर्मचारी नेताओं ने साथियों का आभार माना

मध्‍यप्रदेश तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ के अशोक चतुर्वेदी, राजेश तिवारी,एस.एस. रजक, एस; एन.. शुक्‍ला, मोहन अययर , उमाशंकर तिवारी, ताहिर कुरेशी, एम.एल. मिश्रा, राकेश खरे, रमेश चिढार,  आर.के. कटियार उमेश बोरकर, ओ.पी. सोनी, , अजब सिंह, शाजिद, अजय जैसवाल, सी.पी. श्रीवास्‍तव, श्‍याम यादव, धर्मेश शर्मा, एन;सी. जैन, अरूण भार्गव,अरविंद सावनेर, रविकांत बरोलिया, विजय मिश्रा, टी.सी. वर्मन, आर.के. रावत कनक लता चतुर्वेदी, संतोष शर्मा,अनूप शर्मा, इनायत अली आदि ने आंदोलनको सफल बनाने के लिये राजधानी के कर्मचारियों का अभार माना है।  

ये हैं कर्मचारी संघ की प्रमुख मांगें
लिपिक वर्गीय कर्मचारियों के लिये गठित रमेशचन्‍द्र शर्मा समिति की 23 अनुसंशाओं को लागू किया जायें, सातवें वेतनमान के अनुरूप भत्‍ते दिये जायें, शिक्षकों को पदोन्‍नत पदनाम दिया जायें,ई अटेंडेंस प्रथा समाप्‍त की जायें,संविदा कर्मचारियों को नियमित किया जायें,पुरानी पेंशन प्रणाली लागू की जायें,आउट र्सोसिंग प्रथा बंद की जायें।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...