Loading...

KAMALNATH ने शिक्षकों के लिए कोई घोषणा नहीं की, बस इतना कहा कि निराश नहीं होंगे | MP ELECTION NEWS

भोपाल। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा है कि शिक्षा और ज्ञान में बुनियादी अंतर है। शिक्षा का समय निर्धारित होता है और ज्ञान जिंदगी भर प्राप्त किया जाता है। इस ज्ञान की शुरूआत शिक्षक से होती है। उन्होंने कहा कि मैं कोई घोषणा तो नहीं करता पर प्रदेश के शिक्षकों को आश्वासन देता हूं कि कांग्रेस की सरकार बनने पर वे निराश नहीं होंगे। कमलनाथ आज यहां नार्मदीय समाज भवन में मध्यप्रदेश शिक्षक कांग्रेस के प्रांतीय सम्मेलन का शुभारंभ कर रहे थे। बता दें कि शिक्षकों की पदनाम परिवर्तन समेत कुछ आसान सी मांगें हैं जो बिना बजट के पूरी की जा सकतीं हैं। 

कमलनाथ ने कहा कि भाजपा की शिवराज सरकार की झूठी घोषणाओं की सच्चाई सबसे ज्यादा शिक्षक और कर्मचारी वर्ग समझता है। उन्हें भाजपा और कांग्रेस की सोच का बुनियादी अंतर पता है। यह ऐसा वर्ग है जो समाज के सभी वर्गों को प्रभावित करता है। मेरा सभी से आग्रह है कि आप सभी आज संकल्प लें रोज दस लोगों को प्रदेश की वर्तमान तस्वीर को समझायेंगे। उन्होंने कहा कि हमें किसी को गुमराह नहीं करना है, लेकिन सच्ची बात लोगों को बताना है। ऐसा करके आप मध्यप्रदेश के भविष्य की रक्षा करेंगे।

विज्ञापन के पैसे बचाकर अतिथि शिक्षकों का वेतन बढ़ा दें
कमलनाथ ने कहा कि मुख्यमंत्री महीने में 25 दिन अखबारों में अपनी फोटो वाले विज्ञापन सरकारी खर्चे पर छपवाते हैं। इस पर सैकड़ों करोड़ रूपये खर्च होते हैं। मेरा कहना है कि भई, कुछ दिन अपनी फोटो न छपवायें और उस पैसों से शिक्षकों के लिये कुछ कर दें। उन्होंने कहा कि एक ओर तो अतिथि शिक्षक पदनाम दिया गया है तो दूसरी ओर उन्हें ढाई-तीन हजार रूपये तनख्वाह देकर उनका अपमान किया जाता है। जिस युवा पीढ़ी को शिक्षक तैयार कर रहे हैं, वह हाथों में काम चाहता है। 
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com