JHARKHAND के हजारीबाग में दोहराया गया दिल्ली का BURARI KAND

15 July 2018

JHARKHAND : झारखंड के हजारीबाग में एक ही परिवार के छह लोगों ने खुदकुशी कर ली है. दिल्ली में बुराड़ी कांड की गुत्थी अभी पूरी तरह सुलझी ही नहीं थी कि झारखंड के हजारीबाग से भी इसी तरह की घटना सामने आई है. पुलिस के मुताबिक खजांची तालाब इलाके में परिवार के लोगों ने फंदे पर झूलकर जान दे दी. मामला सदर थाना क्षेत्र का है. शनिवार की देर रात कर्ज में डूबे एक ही परिवार के छह सदस्यों की मौत से पूरा शहर सन्न है. पुलिस को घर के अंदर से एक सुसाइड नोट भी मिला है. पुलिस ने मृतकों की पहचान नरेश अग्रवाल, महावीर माहेश्वरी, किरण अग्रवाल, प्रीति अग्रवाल, अन्वी अग्रवाल और अमन अग्रवाल के रूप में की है. शुरुआती जांच में मौत की वजह कर्ज को बताया गया है. लेकिन हत्या की आशंका से भी इनकार नहीं किया जा रहा है. 

हालांकि यह सुसाइड नोट भी अपने आप में विचित्र है. पुलिस के मुताबिक, हजारीबाग के खजांची तालाबा के नजदीक सीडीएम अपार्टमेंट के एक फ्लैट में परिवार रहता था. जानकारी के मुताबिक, सभी सदस्यों ने खुदकुशी नहीं की है. तीन सदस्यों की हत्या की गई, जबकि तीन सदस्यों ने सुसाइड कर लिया.

बताया जा रहा है कि परिवार के छह लोगों में दो लोगों ने फांसी लगाकर जान दी. एक बच्चे की धारदार हथियार से हत्या की गई है, जबकि एक बच्ची को जहर देकर मारा गया. एक महिला की गला दबाकर हत्या की गई है. ऐसा लगता है कि परिवार के पांच लोगों की मौत के बाद सबसे अंत में नरेश अग्रवाल ने छत से कूदकर जान दे दी.

पुलिस को अपार्टमेंट के कमरे से एक सुसाइड नोट बरामद हुआ है. यह सुसाइड नोट एक ब्राउन लिफाफे पर गणित के किसी सूत्र की तरह लिखा हुआ है. ब्राउन लिफाफे पर लाल स्याही से लिखा है 'अमन को लटका नहीं सकते थे. इसलिए उसकी हत्या की गयी.' इसके नीचे नीली स्याही से मोटे अक्षरों में सुसाइड नोट लिखा है. और उसके नीचे लिखा है, 'बीमारी + दुकान बंद + दुकानदारों का बकाया न देना + बदनामी + कर्ज = तनाव (Tension) = मौत'. सुसाइड नोट लिखने वाले ने मौत की शुरुआती वजह 'कर्ज' और आखिरी वजह कर्ज न चुका पाने की वजह से उपजे 'तनाव' को बताया है. सुसाइड नोट में ऊपर लाल स्याही से अलग से एक नोट भी लिखा गया है.
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->