उड़ता भोपाल: छिंदवाड़ा से ITI करने आई छात्रा ड्रग एडिक्ट बन गई, सुसाइड | MP NEWS

26 July 2018

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के कॉलेज केंपस अब नशे का अड्डा बन गए हैं। पिछले दिनों बेतूल के यश पाठे सुसाइड केस में इस कारोबार की कलई खुल गई थी। लक्ष्मीनारायण मेडिकल कॉलेज में पढ़ने वाले छात्र यश पाठे को ड्रग एडिक्ट बनाया गया और प्रताड़ना के चलते उसने आत्महत्या कर ली। अब एक नया मामला सामने आया है। छिंदवाड़ा की युवती पूजा धुर्वे को उसके पिता ने यहां आईटीआई करने भेजा था परंतु वो ड्रग एडिक्ट बन गई और बीते रोज उसने सुसाइड कर लिया। 

पुलिस के अनुसार छिंदवाड़ा निवासी पिता रामंचद्र धुर्वे ने पुलिस को सूचना दी थी कि बीडीए कॉलोनी शहीद भगत सिंह कॉलोनी अब्बास नगर में उनकी बेटी पूजा धुर्वे चौथी मंजिल पर रहती है। पूजा दरवाजा नहीं खोल रही है और अंदर से बदबू आ रही है। रात करीब पौने 12 बजे पुलिस मौके पर पहुंची थी। इसके बाद दरवाजा तोड़ा गया तो पूजा का शव फंदे पर लटका मिला। पिता रामचंद धुर्वे का कहना है कि वे गुरैया, जिला छिन्दवाड़ा के रहने वाले है। पूजा को उन्होंने करीब छह साल पहले आईटीआई करने भोपाल भेजा था। भोपाल में पढ़ाई के दौरान वह गांजा, चरस, पाउडर समेत अन्य नशे की आदी हो गई थी। पूजा की इन हरकतों से परिजन परेशान थे। पूजा के पिता रामचंद धुर्वे ने बताया कि बेटी भोपाल से घर भी बहुत कम जाती थी। 

नशे की जकड़ में भोपाल के कॉलेज केंपस
इस घटना के बाद यह प्रमाणित हो गया है कि भोपाल शहर के लगभग सभी शैक्षणिक संस्थान जहां बाहर से छात्र पढ़ने के लिए आते हैं, ड्रग माफिया की गिरफ्त में हैं। यहां लालच देकर या धमकाकर छात्र-छात्राओं को नशे की लत लगाई जा रही है। बैतूल के यश पाठे सुसाइड केस में इसका खुलासा हो चुका है परंतु पुलिस ने अब तक इस दिशा में कोई अभियान शुरू नहीं किया। शैक्षणिक संस्थाओं के संचालक भी नशे के खिलाफ कोई कार्रवाई करते नजर नहीं आए। 
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week