Loading...

डीजल मूल्यवृद्धि के खिलाफ 1.5 लाख से ज्यादा ट्रक और बसों की हड़ताल का ऐलान

इंदौर। छह सूत्री मांगों को लेकर 20 जुलाई से हड़ताल पर जा रहे देशभर के ट्रक संचालकों को बस संचालकों का भी साथ मिल गया। इससे ट्रकों के साथ ऑल इंडिया परमिट बसें भी नहीं चलेंगी। ऑल इंडिया टूरिस्ट परमिट एसोसिएशन के पदाधिकारियों के मुताबिक ऑल इंडिया मोटर कांग्रेस के आह्वान पर 97 लाख ट्रक हड़ताल करेंगे। हम डीजल मूल्य में वृद्धि को लेकर ट्रक संचालकों का साथ दे रहे हैं।

हम भी चाहते हैं कि डीजल के मूल्य में होने वाली वृद्धि तीन माह में एक बार हो। इसे भी जीएसटी के दायरे में लाया जाए। एसोसिएशन अध्यक्ष अरुण गुप्ता ने बताया कि इस बारे में बैठक कर निर्णय लिया गया है। जल्द ही इसकी अधिकृत घोषणा की जाएगी।

इधर, हड़ताल के कारण यात्रियों को भारी परेशानी उठाना पड़ेगी। महाराष्ट्र जाने के लिए ट्रेनों में जगह नहीं होने पर अधिकांश यात्री इन्हीं बसों का उपयोग करते हैं। पदाधिकारियों के मुताबिक इंदौर में हर दिन ऑल इंडिया परमिट की 500 से 600 बसें आती-जाती हैं। इनमें 10 से 12 हजार यात्री सफर करते हैं। इंदौर से चलने वाली बसें महाराष्ट्र, गुजरात, छत्तीसगढ़, राजस्थान, उत्तर प्रदेश के शहरों के साथ हैदराबाद तक जाती हैं।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com