Loading...

BRAHMA KUMARI ASHRAM: 2 महिला संचालकों के खिलाफ FIR

भोपाल। मनुष्यों को मोक्ष की ओर ले जाने का दावा करने वाले ब्रम्हकुमारी आश्रम की 2 महिला संचालकों के खिलाफ सेवादार को आत्महत्या के लिए बाध्य करने का मामला दर्ज किया गया है। इन दोनों के साथ 2 बीमा ऐजेंटों को भी आरोपित किया गया है। आरोप है कि सभी ने मिलकर सेवादार के खाते से 3 लाख रुपए निकाल लिए और वापस मांगने पर उसे प्रताड़ित कर रहे थे। यही 3 लाख रुपए सेवादार की अंतिम जमापूंजी थी। अदालत के आदेश के बाद हबीबगंज पुलिस ने चार आरोपियों के खिलाफ खुदकुशी के लिए उकसाने का केस दर्ज किया है। इस मामले में हबीबगंज पुलिस का रवैया भी संदिग्ध रहा। सुसाइड नोट मिलने के बावजूद हबीबगंज पुलिस ने सभी 4 आरोपियों को नामजद नहीं किया था। पीड़ित पक्ष को एफआईआर दर्ज कराने के लिए न्यायालय तक जाना पड़ा। 

सागर निवासी 65 वर्षीय गोविंद प्रसाद खुरई स्थित ब्रम्हकुमारी आश्रम में सेवादार (कर्मचारी) थे। सितंबर 2017 में उनका BRAHMA KUMARI ASHRAM BHOPAL में स्थानांतरण हो गया था। 8 अक्टूबर 2017 की सुबह उनका शव भोपाल आश्रम की दालान में फंदे पर लटका मिला। एसआई एपी यादव के मुताबिक सुसाइड नोट में गोविंद ने आश्रम की दो संचालिकाओं और दो बीमा एजेंट पर अपने BANK ACCOUNT से लाखों रुपए निकाले जाने के आरोप लगाए थे। इसमें उन्हें प्रताड़ित किए जाने का जिक्र भी था। इसके बाद भी हबीबगंज पुलिस ने केस दर्ज नहीं किया। इससे परेशान उनके बेटे ने अदालत में परिवाद दायर किया था। 

खाते से तीन लाख रुपए निकालने का भी आरोप
अदालत के आदेश के बाद शनिवार को पुलिस ने चार लोगों के खिलाफ खुदकुशी के लिए उकसाने का केस दर्ज कर लिया है। इनमें बीना और खुरई आश्रम की तत्कालीन महिला संचालक सरोज व किरण और बीमा एजेंट आशीष व चेतन शामिल हैं। उन पर गोविंद के खाते से तीन लाख रुपए निकाले जाने का आरोप है। अपनी रकम मांगने पर चारों उन्हें प्रताड़ित कर रहे थे। फिलहाल पुलिस ने एक को भी गिरफ्तार नहीं किया है। 

2013 में ब्रह्मकुमारी से आश्रम में रेप का आरोप सामने आया था
दिसम्बर 2013 में लिंक रोड नंबर तीन पर स्थित ब्रह्मकुमारी आश्रम की एक साधिका ने आश्रम के ही साधक पर दुष्कर्म का आरोप लगाया था। छतरपुर मूल की युवती को ब्रह्मकुमारी बनाकर सिंगरौली भेजा गया था। उसने आरोप लगाया था कि वहां ब्रह्मकुमार ने उसके साथ बलात्कार किया। उसके बाद उसे भोपाल भेज दिया गया। भोपाल में भी उसका बलात्कार किया गया। फिर उसका गर्भपात करा दिया गया और चोरी का आरोप लगाकर आश्रम से बाहर निकाल दिया। 
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com