DIGVIJAY SINGH को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाएं RAHUL GANDHI: BJP - Bhopal Samachar | No 1 hindi news portal of central india (madhya pradesh)

Bhopal की ताज़ा ख़बर खोजें





DIGVIJAY SINGH को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाएं RAHUL GANDHI: BJP

20 June 2018

BHOPAL: आरएसएस से जुड़े होने वाले दिग्विजय सिंह के बयान खिलाफ आज बीजेपी ने मोर्चा खोल दिया. बीजेपी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मांग की वो तुरंत दुग्विजय सिंह को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाएं. बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि दिग्विजय सिंह को हिंदुओं को बदनाम करने के लिए कांग्रेस से बर्खास्त करना चाहिए। दिग्विजय सिंह को पार्टी से निकालने की मांग करते हुए बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा, ''राहुल गांधी की पार्टी ने 2019 के चुनाव और मध्यप्रदेश के चुनाव से पहले हिंदुओं को गाली देने का काम किया है. बीजेपी आज ये मांग करती है कि दिग्विजय सिंह को पार्टी से निकाल देना चाहिए, हम माफी की मांग नहीं कर रहे हैं. यह कोई छोटा मुद्दा नहीं है, आप लाखों हिंदुओं पर सवाल उठा रहे हैं, आप ने उन्हें आतंकवादी किया है. किसी और धर्म या संप्रदाय के लिए दिग्विजय सिंह ने ऐसे शब्द प्रयोग किए होते तो क्या राहुल गांधी उन्हें माफ कर देते? आप हिंदुओं को हल्के में क्यों लेते हैं?''

दरअसल मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने झाबुआ में कहा, ''जितने भी हिंदू धर्म वाले आतंकवादी पकड़े गये हैं. सब संघ के कार्यकर्ता रहे हैं. महात्मा गांधी की हत्या करने वाला शख्स नाथूराम गोडसे भी आरएसएस से जुड़ा रहा है. यह विचारधारा नफरत फैलती है, नफरत हिंसा की ओर ले जाती है, जो आतंकवाद की ओर ले जाती है.''

'हिंदू आतंकवाद' के बयान पर सफाई दे चुके हैं सिंह
दिग्विजय सिंह ने 'हिंदू आतंकवाद' पर दिये गये कथित बयानों पर सफाई दी थी. उन्होंने कहा था, ''आपके पास गलत सूचना है कि दिग्विजय सिंह ने हिंदू आतंकवाद की बात कही है. मैंने हमेशा संघी आतंकवाद की बात की है.'' कांग्रेस की समन्वय समिति के अध्यक्ष दिग्विजय सिंह ने कहा था कि लोग मुझपर आरोप लगाते हैं कि मैं मुस्लिम परस्त हूं, हिन्दू विरोधी हूं. मैं पूछना चाहता हूं की एक बीजेपी नेता ऐसा बता दे जिसने नर्मदा, ओंकारेश्वर और गोवर्धन परिक्रमा की हो या एकादशी का व्रत रखा हो. बीजेपी धर्म की राजनीति करती है. धर्म के नाम पर पैसा बटोरना और नफरत फैलाना ही काम है.



-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

;
Loading...

Popular News This Week

 
-->