Loading...

राजस्थान मेें स्कूल स्टूडेंट्स की साइकिल का भगवाकरण

जयपुर। आम जनता के पैसों से गरीबों को जीवन यापन को सुधारने के लिए चलाई जा रहीं योजनाओं का भगवाकरण उत्तरप्रदेश के बाद अब राजस्थान में भी शुरू हो गया है। आपको याद दिला दें कि यूपी में सीएम योगी आदित्यनाथ के लिए टॉयलेट भी भगवा कर दिया गया था। यहां वसुंधरा राजे सरकार ने उन स्कूल स्टूडेंट्स की साइकिल का भगवाकरण का कर दिया जो खुद वोटर भी नहीं है। अब इसे लेकर भारी विरोध शुरू हो गया है। इसे जनता के पैसे से पार्टी का प्रचार की साजिश बताया जा रहा है। 

बता दें कि जयपुर शहर के सांसद राम चरण बोहरा ने जयपुर के सांगानेर की एक स्कूल में बच्चों को साइकिल बांटी। खास बात ये थी कि इन साइकिल का रंग केसरिया था, जिसके बाद कांग्रेस इसका विरोध कर रही है। सांसद बोहरा का कहना है कि मुख्यमंत्री की स्कीम के अधीन सांगानेर क्षेत्र की 2000 छात्राओं को साइकिल बांटने के कार्यक्रम का आयोजन किया गया था।

वहीं कांग्रेस का कहना है कि यह दर्शाता है कि वे अपनी विचारधारा के प्रचार के लिए सरकारी संपत्ति का इस्तेमाल कर रहे हैं। कांग्रेस प्रवक्ता अर्चना शर्मा ने कहा, 'इससे पहले जब यह फैसला किया गया था कि बच्चों को साइकिल बांटी जाएगी, जिसका रंग काला होगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। उन्हें भगवा रंग करने का फिर से टेंडर दिया गया। इसलिए यह दर्शाता है कि साइकिल बांटने के साथ साथ अन्य योजनाओं में भी सरकार और नेताओं को लगता है कि यह एक रास्ता है, जिससे विचारधारा का प्रचार किया जा सकता है।

इससे पहले प्रदेश में भगवा रंग की साइकिल बांटी गई थीं, जिसके बाद पनपे विवाद को लेकर सामाजिक न्याय अधिकारिता विभाग की ओर से बांटी जाने वाली साइकिलों में भगवा रंग से दूरी बना ली थी। उस वक्त विभाग की तरफ से छात्राओं को बांटी जाने वाली साइकिल का रंग काला करने का फैसला किया गया था।
देश और मध्यप्रदेश की बड़ी खबरें MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com