BJP के गांव में BJP विधायक के लिए जूतों की माला लिए खड़े थे ग्रामीण

11 June 2018

इंदौर। यहां एक बड़ा घटनाक्रम होने वाला था। विकास यात्रा लेकर खरसोड़ा गांव पहुंच रहे देपालपुर के भाजपा नेता एवं विधायक मनोज पटेल का स्वागत करने के लए ग्रामीणों ने जूतों की माला तैयार की थी। इससे पहले कि वो विधायक का माला पहना पाते किसी ने पुलिस को खबर कर दी। पुलिस ने आकर माला तो जब्त कर ली लेकिन ग्रामीणों ने विधायक का कड़ा विरोध किया और विधायक धीरे से खिसक लिए। बता दें कि इस गांव को भाजपा का गांव कहा जाता है। 

भाजपा का गांव कहलाता है खरसोड़ा

लगभग 500 व्यक्तियों की आबादी वाला खरसोड़ा गुर्जर बहुल गांव है। खास बात यह है कि गांव के अधिकांश वोटर्स भाजपा के समर्थक है लेकिन गांव में विकास कार्य नहीं होने से वह भाजपा से काफी नाराज है। रविवार शाम विधायक मनोज पटेल विकास यात्रा के तहत खरसोड़ा गांव पहुंच रहे थे। विधायक को पहनाने के लिए गांववालों ने जूतों की माला बना रखी थी। इसकी खबर पुलिस के साथ ही भाजपा के नेताओं को लग गई। इसके चलते विधायक के गांव में पहुंचने से पहले ही पुलिस वहां पहुंच गई और जूतों की माला को जब्त कर लिया गया।

विरोध किया तो अच्छा नहीं होगा...

ग्रामीणों का कहना है कि पुलिस व भाजपा के कुछ नेेताओं ने गांववालों को लगभग धमकाते हुए कहा कि भाजपा का विरोध किया तो परीणाम अच्छे नहीं होंगे। इसके बावजूद ग्रामीणों ने कहा कि हमारे गांव में कुछ विकास नहीं हुआ तो हम विकास यात्रा का स्वागत क्यों करें हम तो विरोध ही करेंगे।

बगैर जवाब दिए चले गए विधायक

कुछ देर बाद जब विधायक गांववालों के मध्य पहुंचे तो गांववालों ने विधायक से कहा कि आप तो चुनाव जीतने के बाद गायब ही हो जाते हो, इस पर विधायक ने कहा कि आप जब चाहे मुझे बुला सकते है। ग्रामीणों ने विकास कार्य नहीं होने का मुद्दा उठाया इस पर विधायक ने कहा कि मुख्य सड़क बनी तो है इस पर गांव वालों का कहना था कि वह तो पांच साल पहले की बनी है गांव के अंदर तो हालत खराब है। गांववालों का विरोध देख विधायक उनके सवालों क जवाब दिए बगैर आगे बढ़ गए। यह देख ग्रामीणों ने विधायक मुर्दाबाद के नारे लगाना प्रारंभ कर दिए।

विकास के नाम पर कुछ नहीं हुआ

खरसोड़ा गांव के दिलीप गुर्जर, जितेन्द्र गुर्जर, विक्रमसिंह गुर्जर, भरत गुर्जर, अंतिम गुर्जर आदि का कहना है कि विधायक पिछले चार साल में पहली बार गांव आए है। गांव में न सड़क है ना बिजली और ना ही पानी। बारिश के मौसम में कीचड़ व जल भराव से गांव का संपर्क आसपास के अन्य गांवों से टूट जाता है। इस संबध में कई बार विधायक मोहदय को आवेदन दिया लेकिन किसी भी नेेता ने इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया।
BHOPAL SAMACHAR | HINDI NEWS का 
MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए 
प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week