Loading...

ये रहा कृषि कर्मण अवार्ड का सच! भाजपा नेता बाहरी चना मंडी में बेच रहा था

इंदौर। मध्यप्रदेश की मंडियों में भरपूर अनाज खरीदा जा रहा है। रिकॉर्ड कहता है कि किसान मालामाल हो गया लेकिन किसान आत्महत्या कर रहा है। नई योजनाओं के खिलाफ आंदोलन कर रहा है। शिवराज सरकार आंकड़े पेश कर रही है और केंद्र सरकार हर साल उसे कृषि कर्मण अवार्ड दे रही है परंतु आज हरदा में कृषि कर्मण अवार्ड का असली सच पकड़ा गया। यहां 1 ट्रक चना पकड़ा गया है जो भाजपा नेता अशोक राठौर ने महाराष्ट्र से बुलवाया था। आरोप है कि भाजपा नेता दूसरे राज्यों में सस्ता अनाज खरीदकर मप्र की मंडियों में बेच रहे हैं। मुनाफा भाजपा नेता कमा रहे हैं, दर्ज किसानों के खातों में हो रहा है। 

बताया गया है कि हरदा जिले में बीजेपी नेता अशोक राठौर हरदा मंडी में लाइसेंसी व्यापारी भी हैं। हरदा जिले में समर्थन मूल्य पर चल रही चना खरीदी में हेराफेरी रुकने का नाम नहीं ले रही है। जिले के व्यापारी और किसान दूसरे राज्यों से कम भाव का चना मंगाकर ज्यादा भाव में की जा रही खरीदी में बेच रहे हैं। शासन द्वारा 9 जून तक 4500 रूपये प्रति किवंटल के भाव से खरीदी की जा रही है।

हरदा प्रशासन द्वारा विगत एक माह में महाराष्ट्र से लाया जा रहा लगभग एक हजार क्विंटल चना पकड़ा है। बुधवार को एक और मंडी में अनुमति से ज्यादा स्टॉक रखने पर सादानी ट्रेडिंग कम्पनी के गोदाम की जाँच की गई। दूसरी और खंडवा रोड पर तहसीलदार ने सूचना पर कार्रवाई कर एक ट्रक चना जब्त किया। यह चना बीजेपी के नेता अशोक राठौर ने अपनी फर्म अशोक कुमार विनोद कुमार राठौर के नाम से जलगांव से मंगवाया था।

तहसीलदार ने ट्रक को जब्त कर जाँच शुरू कर दी है कि इस नेता ने इस तरह से और कितने ट्रक चना बाहर से मंगा कर समर्थन मूल्य पर बेचा है। जहां सत्ता की धमक वाले व्यापारियों का समर्थन मूल्य में बाहर से माल लाकर बेचने से धंधा चमक रहा है, वहीं वास्तविक किसान अपने माल को लेकर भटके- भटके फिर रहे हैं।
BHOPAL SAMACHAR | HINDI NEWS का 
MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए 
प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com