छतरपुर: मप्र संविदा शिक्षक भर्ती परीक्षा के इंतजार में सुसाइड

13 June 2018

भोपाल। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने 2013 के विधानसभा चुनाव से पहले ऐलान किया था कि मप्र में अब हर साल संविदा शिक्षक भर्ती परीक्षा आयोजित की जाएगी लेकिन पिछले 4 सालों में एक भी बार परीक्षा आयोजित नहीं की गई। इंतजार करते करते थक गए छतरपुर के युवक देशराज यादव ने सुसाइड कर लिया। उसने अपने सुसाइड नोट में लिखा है कि मां, मैं इस दुनिया से हारकर जा रहा हूं। मैंने संविदा शिक्षक भर्ती का बहुत इंतजार किया। सात साल बीत चुके फिर भी भर्ती नहीं निकली। बता दें कि मप्र में करीब 15 लाख युवक युवतियां संविदा शिक्षक भर्ती परीक्षा का इंतजार कर रहे हैं। 

5 साल से था अतिथि शिक्षक

राजनगर थाने के कुरेला निवासी देशराज यादव अपने माता पिता और छोटे भाईयो के साथ रहता था। मृतक ने अपने सुसाइड नोट में लिखा है कि वह अतिथि शिक्षक के रूप में 5 साल से काम कर रहा था। उसने 12 वीं के बाद बीए, डीएड, आईटीआई और कंप्यूटर कोर्स किया वह भी इस आस में कि प्रदेश में शिक्षक की नौकरी निकलेगी और उसमें वह भर्ती होकर अपने परिवार का अच्छी तरह लालन पालन करेगा लेकिन नौकरी की आस में उसे निराशा ही मिली।

पिता अंधे हैं और मेरी आंखों के आंसू सूख चुके हैं


देशराज ने आगे लिखा कि संविदा शिक्षक की नौकरी नहीं निकलने की वजह से वह बहुत निराशा में डूबा है, इस लिए वह खुदकुशी कर रहा है। उसने गरीबी के चलते बड़ी मुश्किल में अपनी पढाई की लेकिन उसे निराशा ही हाथ लगी। पिता दृष्टिहीन हैं और संविदा शिक्षक की नौकरी की भर्ती कब निकलेगी इसी सोच में मेरी आंखों के आंसू भी सूख चुके हैं। मां मुझे माफ करना। जिसने भी देशराज का खुदखुशी के पहले का यह पत्र पढ़ा, उसकी आंखें डबडबा गईं। अपने बड़े बेटे के इस कदम से उसके परिवार में मातम का माहौल है। वहीं सिस्टम से हारे इस युवक का राजनगर थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी है।
देश और मध्यप्रदेश की बड़ी खबरें MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week