IPL विवाद: VIP पास ना मिलने से भड़के मंत्री ने स्टेडियम के गेट बंद कराए

18 May 2018

इंदौर। आईपीएल मैच के दौरान वीआईपी पास ना मिलने से भड़के शिक्षा मंत्री विजय शाह ने स्टेडियम के लिए जाने वाले 3 दरवाजे बंद करवा दिए। होलकर स्टेडियम से लगे विवेकानंद स्कूल ने पहले मंगलवार को स्टेडियम का प्रवेश द्वार संध्या अग्रवाल को बंद करा दिया और अब एमपीसीए को प्रति मैच 25 हजार रुपए पार्किंग शुल्क भी जमा कराने का पत्र भेज दिया है। इसमें कुल एक लाख रुपए जमा कराने के लिए कहा गया है। पत्र में कहा है कि स्कूल में पार्किंग व्यवस्था की गई थी, इसका शुल्क आप जल्द जमा कराएं। स्कूल प्रिंसिपल राजीव मकवानी ने पत्र भेजने की पुष्टि की है। वहीं एसजीएसआईटीएस ने भी अपने यहां पार्किंग व्यवस्था करने के एवज में प्रति मैच 10 हजार रुपए की मांग की है। इसके लिए उन्होंने भी फ्रेंचाइजी और एमपीसीए को पत्र भेज दिया है।

क्यों भड़के मंत्री विजय शाह

पिछले मैच में मंत्री विजय शाह परिवार समेत मैच देखने पहुंच गए थे। वीआईपी पास पहले ही पुलिस और प्रशासन को दिए जा चुके थे। फ्रेंचाइजी के पास वीआइपी सीट नहीं थीं अत: उन्होंने मंत्री विजय शाह को गैलेरी के पास दे दिए। मंत्री जब अंदर पहुंचे तो देखा कि वीआईपी बॉक्स में इंदौर के अधिकारियों के बच्चे बैठे हैं। यह देख वो भड़क गए और वापस लौट गए। जाते जाते वो धमकी दे गए थे कि स्टेडियम की पार्किंग बंद करा देंगे। दूसरे दिन यह ड्रामा हो गया। 

​प्रीति जिंटा भड़कीं, फ्रेंचाइजी ने कहा ऐसा सिर्फ मप्र में हुआ

फ्रेंचाइजी का आरोप है कि बेंगलुरू मैच के दौरान पुलिस ने हमारे सीओओ अनंत सरकारिया को उठाने की धमकी दी। फ्रेंचाइजी के सीईओ सतीश मेनन ने कहा कि आखिर को-ऑनर प्रीति जिंटा और मोहित बर्मन ने एसपी अवधेश गोस्वामी को कह दिया था कि हमें गिरफ्तार कर लीजिए। कई जगह मैच खेले हैं, लेकिन टिकट मांगने और नहीं मिलने पर परेशान करने वाला व्यवहार इंदौर में देखा। पुलिस ने स्टेडियम के बाहर होटल की गाड़ी रोक दी, भोजन नहीं ला सके, खाना खराब हो गया।

हार का ठीकरा सिस्टम पर फोड़ रहे हैं: एसपी

इन आरोपों पर एसपी गोस्वामी ने कहा किंग्स इलेवन यहां तीन मैच हार चुकी है। वह यहां होमग्राउंड नहीं रखना चाहती है, इसलिए हार का ठीकार पुलिस-प्रशासन पर फोड़ रही है। प्रीति जिंटा और हमारा कोई आमना-सामना नहीं हुआ। सारे आरोप यहां से जाने के बाद बेवजह लगाए जा रहे हैं। गोस्वामी ने कहा कि होटल की गाड़ियां दोपहर में देरी से आई, जबकि 12 बजे तक का ही समय था, इसके बाद हमे स्टेडियम की सघन जांच करना थी, 30 हजार लोगों की जान खतरे में नहीं डाल सकते, भले फ्रेंचाइजी को बुरा लगे।

व्यवस्था को लेकर फ्रेंचाइजी को लिखी चिट्‌टी केे बाद बढ़ा विवाद

यह भी सामने आया है कि एसपी गोस्वामी ने बेंगलुरु मैच के कुछ दिन पहले फ्रेंचाइजी को सख्त चिट्ठी लिखकर कहा था कि बेंगलुरू मैच के दौरान स्टेडियम जैम पैक रहेगा, लेकिन अभी तक पार्किंग व ट्रैफिक व्यवस्था को लेकर व्यवस्थि साइनेज नहीं लगाए गए हैं, ऐसे में कोई घटना हुई तो जिम्मेदारों पर पुलिस कानूनी कार्रवाई करेगी। वहीं हुआ भी और 14 मई को मैच के दौरान दो घंटे तक ट्रैफिक जमा रहा, जिसे लेकर पुलिस ने नाराजगी जाहिर की थी।

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week