कमलनाथ ने शिवराज को 'नालायक' कहा, भाजपाई भड़के

BHOPAL | MP NEWS | पूरे 38 साल तक रिश्तों की राजनीति करने वाले कमलनाथ का नया एडिशन धूम मचा रहा है। उन्हे मालूम है कि चुनावी साल में सुर्खियां कैसे बटोरी जातीं हैं। वो हर रोज मीडिया के केंद्र में बने हुए हैं। आज फिर उन्होंने एक ऐसा बयान दे दिया जिससे वो आने वाले दो तीन दिन तक चर्चा का केंद्र बने रहेंगे। दरअसल, उन्होंने सीएम शिवराज सिंह को 'नालायक' कहा है। कमलनाथ प्रेस से मिलिए कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इसी दौरान एक सवाल के जवाब में उन्होंने यह तंज कसा। 

कमलनाथ से जब पूछा गया कि शिवराज आपके राजनीतिक प्रतिद्वंदी है, आप उन्हें मित्र कहते हैं। इस पर कमलनाथ ने तंज़ कसते हुए कहा शिवराज मेरे मित्र हैं, लेकिन कुछ मित्र लायक होते हैं कुछ नालायक। बता दें कि कमलनाथ को जब कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष बनाने का ऐलान किया गया था, तब शिवराज ने उन्हें बधाई देते हुए कहा था 'मेरे मित्र कमलनाथ को बधाई', इस पर कमलनाथ ने भी जवाब देते हुए 'मेरे मित्र शिवराज' को धन्यवाद दिया था। इससे पहले भी कई मौके पर दोनों नेता एक दूसरे को मित्र कहते आये हैं। 

कमलनाथ 9 बार से छिंदवाड़ा सांसद हैं लेकिन भाजपा नेताओं से रिश्तों की मजबूती का सबसे बड़ा प्रमाण यह है कि एक भी बार भाजपा ने उसके सामने सशक्त प्रत्याशी नहीं उतारा। इतना ही नहीं भाजपा ने छिंदवाड़ा में एक भी नेता का कद इतना बड़ा होने ही नहीं दिया कि वो कमलनाथ से आंख मिला सके। शिवराज सिंह से उनकी दोस्ती के चर्चे भी काफी पुराने हैं। सुना है व्यापमं घोटाले में भी कमलनाथ के एक मित्र ने शिवराज सिंह की मदद की थी। 

कमलनाथ माफी मांगो: भाजपा
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता एवं सांसद आलोक संजर ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष श्री कमल नाथ द्वारा मुख्यमंत्री को लेकर की गई टिप्पणी पर गंभीर आपत्ति व्यक्त करते हुए उन से क्षमा मांगने की मांग की है। श्री संजर ने कहा है कि पत्रकारों से बातचीत में श्री कमल नाथ ने जिस भोंडे और असंसदीय ढंग से मुख्यमंत्री जी का उल्लेख किया है,वह क्षमा करने योग्य नहीं है। उन्होंने कहा कि श्री कमल नाथ जिस भाषा का इस्तेमाल कर रहे हैं उस भाषा को कोई उनके लिए भी इस्तेमाल कर सकता है लेकिन हमारे संस्कार और विचारधारा ऐसे घटिया विचार व्यक्त करने की अनुमति नही देते। श्री संजर ने कहा कि श्री कमल नाथ पर आयु का प्रभाव है या वे अपनी संपत्ति के नशे में चूर हैं, यह वही जानें लेकिन अच्छा होगा वे अपने अपशब्दों के लिए सार्वजनिक रूप से मुख्यमंत्री जी से माफी मांगे।