कोर्ट के खिलाफ बयान देने वालों की लिस्ट सुप्रीम कोर्ट में पेश, कड़ी कार्रवाई की मांग | NATIONAL NEWS

27 April 2018

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने न्यायपालिका के खिलाफ गलतबयानी करने वालों पर कार्रवाई करने की याचिका स्वीकार कर ली है। याचिकाकर्ता वकील व भाजपा नेता गौरव भाटिया ने आरोप लगाया है कि कुछ वकील और राजनेता सोशल मीडिया और न्यूज चैनलों पर न्यायपालिका की अवमानना कर रहे हैं। भाटिया ने चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय पीठ के समक्ष मामले का जिक्र करते हुए कहा कि कुछ वरिष्ठ वकील और नेता सार्वजनिक रूप से न्यायपालिका और अदालत के खिलाफ बोल रहे हैं। अदालत को इस पर गौर करना चाहिए। पीठ ने कहा कि याचिका पर अगले मंगलवार या बुधवार सुनवाई होगी।

गौरव भाटिया ने राजनीति दलों से जुड़े कुछ लोगों और कार्यकर्ताओं द्वारा जजों के खिलाफ किए गए ट्वीट का हवाला दिया। उन्होंने कहा कि कुछ ट्वीट तो ऐसे हैं कि उन्हें अदालत में पढ़ा भी नहीं जा सकता। उन्होंने कहा कि न्यायपालिका और जजों के खिलाफ गलत बयान देने वाले वकीलों और नेताओं के खिलाफ अवमानना की कार्रवाई होनी चाहिए।

बता दें कि एससी/एसटी एक्ट में एफआईआर के तुरंत बाद गिरफ्तारी की शर्त हटाने के बाद 2 अप्रैल को देश भर में बाजार बंद कराया गया। उपद्रव हुए। भीड़ ने नारे लगाए। सोशल मीडिया पर सुप्रीम कोर्ट के खिलाफ बयान पोस्ट किए गए। यहां तक कि मध्यप्रदेश के जबलपुर में भीड़ ने हाईकोर्ट के सामने जाकर कोर्ट और वकीलों के खिलाफ भी नारे लगाए थे। 

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Advertisement

Popular News This Week